जम्मू कश्मीर: हरकत से बाज नहीं आ रहा पाकिस्तान, कस्बा, कीरनी, शाहपुर और माल्टी सेक्टर में की गोलीबारी

ताजा मामला पुंछ जिले के कस्बा, कीरनी, शाहपुर और माल्टी सेक्टर का है। यहां गुरुवार को पाकिस्तान ने सीजफायर तोड़ा और फायरिंग की।

terrorists

सांकेतिक तस्वीर

पाकिस्तान (Pakistan) आतंकी घुसपैठ करवाने के लिए सीजफायर तोड़ता है, जिससे सेना का ध्यान पाकिस्तान को जवाब देने में जाए और इस बीच आतंकी भारत में घुसपैठ कर जाएं।

जम्मू कश्मीर: पाकिस्तान (Pakistan) अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। वह लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। सीजफायर तोड़ने की आड़ में वह आतंकियों की घुसपैठ कराना चाहता है।

ताजा मामला पुंछ जिले के कस्बा, कीरनी, शाहपुर और माल्टी सेक्टर का है। यहां गुरुवार को पाकिस्तान ने सीजफायर तोड़ा और फायरिंग की। भारतीय सेना भी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे रही है।

पाकिस्तान (Pakistan) आतंकी घुसपैठ करवाने के लिए सीजफायर तोड़ता है, जिससे सेना का ध्यान पाकिस्तान को जवाब देने में जाए और इस बीच आतंकी भारत में घुसपैठ कर जाएं।

सीमा पार से आतंकी कभी ड्रोन के जरिए हथियार गिराते हैं, तो कभी सुरंग खोदकर घुसपैठ की साजिश रचते हैं। उनकी इन नापाक साजिशों को भारतीय सुरक्षाबल भी अच्छी तरह समझ गए हैं। इसलिए सुरक्षा एजेंसियों ने ऐसी रणनीति बनाई है, जिसके आगे आतंकियों की सारी प्लानिंग फेल हो रही है।

Corona Vaccination: पीएम से लेकर सीएम और सांसद तक, दूसरे चरण में ले सकते हैं वैक्सीन का डोज

गौरतलब है कि कश्मीर घाटी में भारी बर्फबारी के कारण आतंकियों (Terrorists) की घुसपैठ करवाना काफी मुश्किल होता है। इसलिए आतंकी जम्मू के मैदानी इलाकों में धुंध की आड़ में नदी-नालों के जरिए या फिर ड्रोन के जरिए हथियार भेजते हैं। बीते साल अगस्त में जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर अरनिया में ड्रोन के जरिए फेंकी गई करीब 16 किलो हेरोइन और कुछ हथियारों को पुलिस ने बरामद किया था।

जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान ने सुरंग खोदने की 8 वारदातें की हैं। इसके साथ ही साल 2020 से अब तक करीब 12 बार पाकिस्तानी ड्रोन की घुसपैठ हुई है। ऐसे हालात में आतंकियों (Terrorists) तथा उनके मददगारों की धरपकड़ के लिए सेना और सुरक्षाबलों ने सीमाई इलाकों को खंगालने के लिए बड़े पैमाने पर मुहिम छेड़ रखी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App