गढ़चिरौली: नक्सलियों की कायराना हरकत, मुठभेड़ में 2 जवान शहीद; कई नक्सली भी हुए ढेर

लॉकडाउन के दौरान भी नक्सलियों (Naxalites) का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के पखांजुर और महाराष्ट्र के गढ़चिरौली (Gadchiroli) बॉर्डर पर बड़ी नक्सली मुठभेड़ हुई।

Naxalites

नक्सली मुठभेड़ में शहीद जवान।(फाइल फोटो)

लॉकडाउन के दौरान भी नक्सलियों (Naxalites) का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के पखांजुर और महाराष्ट्र के गढ़चिरौली (Gadchiroli) बॉर्डर पर बड़ी नक्सली मुठभेड़ हुई। पुलिस-नक्सली मुठभेड़ (Naxal Encounter) में 2 जवान शहीद हो गए, साथ ही 4 जवान गंभीर रूप से घायल हो गए।

जानकारी के मुताबिक, धुर नक्सल क्षेत्र (Naxal Area) माने जाने वाले गढ़चिरौली के भारमगढ़ तहसील के कोपरशी होडरी जंगल में पुलिस (Police) के जवान सर्चिंग पर निकले थे। भामरागढ़ की क्विक रिस्पॉन्स टीम और गढ़चिरौली पुलिस के सी-60 (C-60) कमांडो टीम की तरफ से यह संयुक्त एंटी-नक्सल ऑपरेशन चलाया गया था।

आजमगढ़ के अबू सलेम को दाऊद ने मायानगरी से रंगदारी वसूलने का काम दिया था, फिल्म अभिनेत्री से रहे अफेयर के चर्चे

इसी दौरान घात लगाकर बैठे नक्सलियों (Naxalites) ने जवानों पर अचानक हमला कर दिया। पोयारकोटी-कोपरशी के जंगलों में यह मुठभेड़ हुई। इस एनकाउंटर में एक सब इंस्पेक्टर धनाजी होनमाणे और आरक्षक किशोर आतरम शहीद हो गए। वहीं, 4 जवान राजू पुसाली, गोंगलु ओक्सा, दसरू कुरसामी गंभीर रूप से घायल हो गए।

घायल जवानों को तत्काल इलाज के लिए अस्पलात में भर्ती करा दिया गया। पुलिस की तरफ से बताया गया कि इस मुठभेड़ (Encounter) में चार से पांच नक्सली (Naxals) भी मारे गए। घायल पुलिसकर्मियों को पास के अस्पताल ले जाया गया और शवों को हेलीकॉप्टर के जरिए गढ़चिरौली शहर लाया गया।

महाराष्ट्र: गढ़चिरौली में नक्सलियों ने किया बंद का ऐलान, वाहनों में लगाई आग

सूत्रों के मुताबिक होनमाणे पंढरपुर के सोलापुर जिले के मूल निवासी थे, जबकि आत्माराम गढ़चिरौली के भामरागढ़ से थे। बता दें कि सी-60 महाराष्ट्र पुलिस की एक विशेष नक्सल विरोधी इकाई है। 

गौरतलब है कि बता दें कि कांकेर-गढ़चिरौली सीमा और आस-पास के इलाके में बड़ी संख्या में नक्सली (Nxalites) मौजूदगी हैं, जो आए दिन ऐसी नक्सली घटनाओं को अंजाम देते रहते हैं। लॉकडाउन के दौरान नक्सली लगातार अपनी मौजूदगी दर्ज करा रहे हैं। समय-समय पर नक्सल घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। पुलिस और सुरक्षाबल पूरी तरह सतर्क हैं। नक्सलियों की हरकतों का माकूल जवाब दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें