नक्सली घटनाओं में आई 50 फीसद की कमी- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने कहा है कि हमारी सरकार नक्सलवाद के खात्मे के लिए दृढ़ संकल्पित है।

Bhupesh Baghel

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने कहा है कि हमारी सरकार नक्सलवाद के खात्मे के लिए दृढ़ संकल्पित है।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने कहा है कि हमारी सरकार नक्सलवाद के खात्मे के लिए दृढ़ संकल्पित है। पहली बार यह हुआ कि सरकारी कार्यक्रमों से लोग इतना प्रभावित हुए कि अब नक्सलियों को नई भर्ती में परेशानी हो रही है। एक साल में हम लोगों ने जो काम किए उसमें नक्सल घटनाओं में 50 फीसद की कमी आई है।

Bhupesh Baghel
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (फाइल फोटो)।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने कहा कि बड़े नक्सली या तो गिरफ्तार हुए या सरेंडर करने पर मजबूर हुए। अन्यथा मार गिराए गए। नौ बड़े हथियारबंद नक्सली मारे गए। इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुए थे। यह हमारी रणनीतिक सफलता है। सरकार की पहली वर्षगांठ के मौके पर एक साक्षात्कार में मुख्यमंत्री बघेल (Bhupesh Baghel) ने कहा कि हमने पीड़ित-प्रभावितों से बात करना शुरू किया है। विश्वास, विकास और सुरक्षा से नक्सलवाद का खत्मा किया जा सकता है।

नक्सल समस्या के समाधान पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सबसे पहले वहां के लोगों का विश्वास जीतना होगा। फिर विकास करना होगा, लेकिन भौतिक विकास, सड़कों का, बिल्डिंग का नहीं, व्यक्ति का विकास हो।जो सुपोषित, शिक्षित, स्वास्थ्य हो, उनके रोजगार की व्यवस्था हो। नक्सली किसी बड़े, बुजुर्ग, बीमार को भर्ती नहीं करते युवाओं को भर्ती करते हैं। युवा तो लिमिटेड हैं। उन युवाओं को आप हल पकड़ाना चाहते हैं या बंदूक। हल नहीं पकड़ाए, रोजगार नहीं दिए तो फिर वह बंदूक की तरफ आकर्षित होगा।

वहीं, बस्तर में रोजगार सृजन पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने कहा कि हमने वहां कर्मचारी चयन बोर्ड का गठन किया है ताकि वहीं के स्थानीय लोगों को रोजगार मिलें। एनएमडीसी की परीक्षा यहीं होनी चाहिए, सड़क भी छोटे-छोटे टुकड़ों में बनाएं जाएं। वहीं के युवाओं को ठेकेदार बनाया जाय ताकि लोगों को काम मिले। बेरोजगारी की समस्या पर बात करते हुए मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ किसानों का प्रदेश है। केवल सरकारी नौकरी ही नहीं बल्कि हमें कृषि पर ध्यान देना होगा। हमारी कोशिश है कि पांच एकड़ तक की खेती वाले किसानों की आय कम से कम तृतीय चतुर्थ कर्मचारी के बराबर हो। जब हम यह कर लेंगे तब हम बेरोजगारी की समस्या का भी पार पा लेंगे।

पढ़ें: पुंछ सेक्टर में गोलीबारी, Indian Army ने दो पाक सैनिकों और तीन घुसपैठियों को मार गिराया

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें