लेह और जम्मू-कश्मीर में भारत की स्थिति होगी और मजबूत, सेना में हुए ये बड़े बदलाव

लेह स्थित सेना (Army) की 14 कोर की कमान लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन ने संभाल ली है। इसके अलावा 14 अक्टूबर को ले. जनरल एमवी सुचींद्र कुमार ने जम्‍मू के नगरोटा स्थित व्‍हाइट नाइट कोर (16 कमान) नए कमांडर के तौर ज्वॉइन किया।

Army

फाइल फोटो।

नगरोटा स्थित सेना (Army) की व्‍हाइट नाइट कोर के कमांडर के तौर पर ले. जनरल हर्ष गुप्‍ता ने ले. जनरल सुचींद्र को जिम्‍मेदारी सौंपी।

लेह स्थित सेना (Army) की 14 कोर की कमान लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन ने संभाल ली है। इसके अलावा 14 अक्टूबर को ले. जनरल एमवी सुचींद्र कुमार ने जम्‍मू के नगरोटा स्थित व्‍हाइट नाइट कोर (16 कमान) नए कमांडर के तौर ज्वॉइन किया।

14 कोर के बॉस ले. जनरल मेनन ले. जनरल पीजीके मेनन को लेह स्थित 14 कोर की कमान सौंपी गई है जिसे ‘फायर एंड फ्यूरी’ के तौर पर भी जाना जाता है। इस कमांड पर चीन से लगी लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएएसी) के साथ द्रास-कारगिल-बटालिक और सियाचिन सेक्‍टर में पाकिस्‍तान से निबटने की जिम्‍मेदारी है। ऐसे में इस समय इस कमान की चुनौतियां भी दोगुनी हो जाती है।

ले. जनरल मेनन सिख रेजीमेंट के कर्नल और कश्‍मीर घाटी में राष्‍ट्रीय राइफल्‍स की एक यूनिट को भी कमांड कर चुके हैं। ले. जनरल मेनन इस पद पर आने से पहले दिल्‍ली स्थित आर्मी हेडक्‍वार्टर पर डायरेक्‍टर जनरल (रिक्रूटिंग) के पद पर थे और नियुक्तियों का जिम्‍मा संभाल रहे थे। ले. जनरल मेनन ने ले. जनरल हरिंदर सिंह से यह जिम्‍मेदारी ली है।

पाकिस्तानी सेना ने की एक और नापाक हरकत, भारतीय इलाके में लगाई आग

वहीं, नगरोटा स्थित सेना (Army) की व्‍हाइट नाइट कोर के कमांडर के तौर पर ले. जनरल हर्ष गुप्‍ता ने ले. जनरल सुचींद्र को जिम्‍मेदारी सौंपी। ले. जनरल सुचींद्र ने इस मौके पर कहा कि यह उनके लिए सम्‍मान की बात है जो उन्‍हें जम्‍मू कश्‍मीर में स्थित इस कमान की सेवा का अवसर मिल रहा है। व्‍हाइट नाइट कोर (16 कोर) पीर पंजाल रेंज के दक्षिण में स्थित एलओसी (LoC) पर सुरक्षा की पहली कड़ी है।

जम्‍मू के अखनूर से लेकर राजौरी और पुंछ तक कमान सुरक्षा का जिम्‍मा संभालती है। यह कमान 300 किलोमीटर की रेंज में आने वाली एलओसी की रक्षा में तैनात रहती है। मई माह से ही चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में तनाव जारी है और ऐसे समय में ही पाकिस्‍तान की तरफ से लगातार जम्‍मू क्षेत्र के तहत आने वाली एलओसी पर फायरिंग की जा रही है।

ये भी देखें-

सेना में यह बड़े बदलाव ऐसे वक्त में किए गए हैं जब एक तरफ नियंत्रण रेखा (LoC) पर पाकिस्‍तान की तरफ से आए दिन युद्धविराम का उल्‍लंघन हो रहा है तो दूसरी तरफ वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन के साथ तनातनी चल रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें