War of 1965: कितना भी दावा कर ले पाकिस्तान, नहीं बदल सकती ये सच्चाई!

War of 1965: पाकिस्तान इस युद्ध में हारा था लेकिन वह आज तक इस सच्चाई को स्वीकार नहीं करता आया है। वह उल्टा अपनी जीत का दावा करता है। 

India Pakistan War 1965

फाइल फोटो।

War of 1965: पाकिस्तान इस युद्ध में हारा था लेकिन वह आज तक इस सच्चाई को स्वीकार नहीं करता आया है। वह उल्टा अपनी जीत का दावा करता है। 

भारत और पाकिस्तान के बीच 1965 में भीषण युद्ध लड़ा गया था। पाकिस्तान को इस युद्ध में बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा था। पाकिस्तान ने भारत को कमजोर माना था, इस वजह से जंग छिड़ी। यानी पाकिस्तान ने उकसावे की कार्रवाई की थी। पाकिस्तान ने सोचा था कि भारत 1962 में मिली चीन से हार के बाद बेहद कमजोर पड़ चुका है। पाकिस्तान की यही सोच जंग में तब्दील हुई।

पाकिस्तान इस युद्ध (War of 1965) में हारा था, लेकिन वह आज तक इस सच्चाई को स्वीकार नहीं करता है। वह उल्टा अपनी जीत का दावा करता है। लेकिन सच्चाई को कोई नहीं बदल सकता। पाकिस्तान कितना भी झूठ बोल ले, लेकिन भारतीय वीर सपूतों के बलिदान और त्याग के दम पर हासिल हुई उस जीत को कोई हार में नहीं बदल सकता।

India Pakistan War 1965: …जब  पाकिस्तान ने पहले से चल रहे ऑपरेशन जिब्राल्टर के साथ शुरू कर दिया ग्रैंड स्लैम

पाकिस्तान 1965 की लड़ाई जीतने का दावा करता रहा है। पाकिस्तान डिफेंस डे 1965 की लड़ाई को याद रखने के लिए मनाता है। भारत तो पहले ही अपनी जीत साबित कर चुका है।

ये भी देखें-

हालांकि, भारत ने पाकिस्तान के सियालकोट, लाहौर और कश्मीर के कुछ उपजाऊ इलाके जीत लिए थे। भारत फायदे में था और पाकिस्तान नुकसान में। आखिरकार युद्ध (War of 1965) का अंत संयुक्त राष्ट्र द्वारा सीजफायर की घोषणा के साथ हुआ। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने कश्मीर हड़पने के लिए कई ऑपरेशन की साजिश रची थी, लेकिन सभी को विफल कर दिया गया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें