कर्नल अनिल ए अथले ने 1971 के युद्ध में निभाई थी अहम भूमिका, युद्धबंदी बना पाकिस्तान ने दिखाया था असली चेहरा

भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 में लड़े गए भीषण युद्ध में कर्नल अनिल ए अथले (Colonel Anil A Athale) ने बहादुरी की मिसाल पेश की थी। भारतीय सेना (Indian Army) बेखौफ होकर दुश्मनों पर टूट पड़ने के लिए जानी जाती है।

Colonel Anil A Athale

फाइल फोटो

War of 1971: कर्नल अनिल ए अथले (Colonel Anil A Athale) को सेना में शामिल हुए महज 3-4 साल ही हुए थे। ऐसे में उन्हें पाकिस्तानी सेना द्वारा बुरी तरहे से टॉर्चर किया गया। उन्हें पाकिस्तान की कैद में रहकर कई बार यातनाएं दी गईं।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 में लड़े गए भीषण युद्ध में कर्नल अनिल ए अथले (Colonel Anil A Athale) ने बहादुरी की मिसाल पेश की थी। भारतीय सेना (Indian Army) बेखौफ होकर दुश्मनों पर टूट पड़ने के लिए जानी जाती है। दुश्मनों को हर मोर्चे पर विफल साबित करने में हमारे सैनिकों को महारथ हासिल है।

कर्नल अनिल ए अथले (Colonel Anil A Athale) और उनके साथियों को उस वक्त युद्धबंदी बना लिया गया था, जब वे  पश्चिमी पंजाब में रावी नदी के किनारे पट्रोलिंग पर थे। उनपर दुश्मनों ने अचानक ही धावा बोल दिया था। कर्नल अनिल ए अथले (Colonel Anil A Athale) और उनके साथी जवानों को हमले से पहले भनक भी नहीं लगने दी गई थी।

एयर वाइस मार्शल आदिय विक्रम पेठिया, 5 महीनों तक पाकिस्तान में युद्धबंदी बनकर रहे

हालांकि, दुश्मनों से मोर्चा लेने में जवान पीछे नहीं हटे बल्कि डटकर सामना किया गया। इस दौरान उन्होंने और छह साथियों ने डटकर आतंकियों का सामना किया था। इस दौरान कर्नल अनिल ए अथले को पकड़ लिया गया। उन्हें युद्धबंदी बना लिया गया।

उस समय कर्नल अनिल ए अथले को सेना में शामिल हुए महज 3-4 साल ही हुए थे। ऐसे में उन्हें पाकिस्तानी सेना द्वारा बुरी तरहे से टॉर्चर किया गया। उन्हें पाकिस्तान की कैद में रहकर कई बार यातनाएं दी गईं।

ये भी देखें-

कर्नल अनिल ए अथले (Colonel Anil A Athale) के अलावा युद्ध के दौरान और भी भारतीय जवानों को युद्धबंदी बनाकरर असहनीय यातनाएं दी गई थीं। कहा जाता है कि आज भी पाकिस्तान की कैद इस युद्ध में शामिल होने वाले 54 भारतीय जवान पाकिस्तान की कैद में हैं। पाकिस्तान इन्हें बुरी तरह से यातनाएं देता रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें