Pulwama Terrorist Attack

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले जम्मू -कश्मीर में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) बड़ा हमला करने की साजिश रच रहा है। ISI पुलवामा जैसा हमला करने की फिराक में है।

14 फरवरी, 2019 को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में हमारे 40 जवान शहीद हुए थे। कई जवान जख्मी भी हुए थे। इस घटना से पूरे देश में रोष और संवेदना की लहर फैल गई थी।

जम्मू-कश्मीर में आतंकी वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। सोमवार को आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर कुल तीन हमले किए। एक के बाद एक हुए इन हमलों से सेना अलर्ट पर है।

बारामूला से उधमपुर तक के राष्ट्रीय राजमार्ग पर 31 मई तक हर हफ्ते रविवार और बुधवार को नागरिक यातायात को बंद रहेगा। इसके लिए बाकायदा सरकारी अधिसूचना जारी की गई है।

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने पाकिस्तान से आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करने को कहा है। जॉन बोल्टन को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने आतंकियों पर कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया है।

अमेरिका ने एक बार फिर से पाकिस्तान की सरजमीं पर मौजूद आतंकी पनाहगाहों को लेकर पाकिस्तान पर दबाव बनाया है और इसे ख़त्म करने को कहा है। अमेरिका ने पाकिस्तान को अपने यहां मौजूद आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल इलाके में आतंकियों के साथ दो दिन से चल रही मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया है।

यह भी पढ़ें