ISI रच रहा है भारत के खिलाफ साजिश, कश्मीर में बड़े हमले के लिए बनाया ‘गजनवी फोर्स’

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले जम्मू -कश्मीर में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) बड़ा हमला करने की साजिश रच रहा है। ISI पुलवामा जैसा हमला करने की फिराक में है। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने सभी आतंकी गुटों के साथ मिलकर नया ग्रुप बनाया है, जिसका नेतृत्व जैश-ए-मोहम्मद कर रहा है।

ISI
फाइल फोटो।

खुफिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) कश्मीर में हालात खराब कराने के लिए कार्रवाई करने की फिराक में है। खबर है कि कश्मीर में आने वाले दिनों में बड़े आतंकी वारदातों को अंजाम दिया जा सकता है। खुफिया सूत्रों के अनुसार, कश्मीर में आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए पाकिस्तानी आतंकियों की बजाय हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल कश्मीर के आतंकियों को इसका जिम्मा सौंपा गया है। इसके अलावा, कश्मीर में पुलवामा (Pulwama) जैसे हमले की साजिश किए जाने का भी खुलासा हुआ है।

आतंकी हमले के लिए बनाया ‘गजनवी फोर्स’

सूत्रों के मुताबिक, जैश, लश्कर, हिजबुल और अंसार गजवत-उल-हिंद का एक नया ग्रुप कश्मीर में सुरक्षा बलों पर IED से हमला कर सकता है। सुरक्षा बलों पर आतंकी गाड़ी में लगे IED के जरिए हमला कर सकते हैं। खबर है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के नेतृत्व में ISI के आतंकियों ने एक साथ ग्रुप बनाकर हमला करने का प्लान तैयार किया है। ऐसा बताया जा रहा है कि इस कंबाइन्ड ग्रुप का नाम ‘गजवनवी फोर्स’ दिया गया है। ‘गजवनवी फोर्स’ में जैश-ए-मोहम्म्द (JeM), लश्कर-ए-तैयबा (LeT), हिजबुल मुजाहिद्दीन (HM) और अद बद्र शामिल हैं। खुफिया इनपुट के बाद सुरक्षाबलों को अलर्ट कर दिया गया है। बता दें कि बीते साल 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ (CRPF) के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था, जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे।

पुलवामा हमला केस में NIA ने दाखिल की चार्जशीट

उधर, नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने 12 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले के मास्टरमाइंड मुदस्सिर अहमद खान के मददगार 4 आतंकियों के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल कर दिया। एनआईए (NIA) ने इन पर देश में आतंकी वारदात को अंजाम देने की साजिश रचने का आरोप लगाया है। इन चारों को भारतीय दंड संहिता यानी आईपीसी (IPC) की धारा 120B (आपराधिक साजिश रचने) और 121A (सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने या छेड़ने की कोशिश करने) के तहत आरोपी बनाया गया है। इसके अलावा अनलॉफुल एक्टिविटीज (प्रिवेंशन) एक्ट यानी UAPA और एक्सप्लोसिव्स सब्सटेंस एक्ट की विभिन्न धाराएं भी इन आतंकियों पर लगाई गई हैं।

पढ़ें: ये है नक्सलवाद का असली चेहरा, लैंडमाइंस विस्फोट की चपेट में आए कई मासूम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here