पुलवामा हमले में शहीद हुए थे संजय कुमार, सरकार ने बेटी को दी सरकारी नौकरी

14 फरवरी, 2019 को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में हमारे 40 जवान शहीद हुए थे। कई जवान जख्मी भी हुए थे। इस घटना से पूरे देश में रोष और संवेदना की लहर फैल गई थी।

पुलवामा हमला, पुलवामा आतंकी हमला, 40 जवान शहीद, शहीद जवान की बेटी को नौकरी, शहादत का सम्मान, शहीद जवान संजय कुमार सिन्हा, जम्मू कश्मीर, जम्मू-कश्मीर,

शहीद संजय कुमार सिन्हा की बेटी को मिली सरकारी नौकरी।

14 फरवरी, 2019 को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में हमारे 40 जवान शहीद हुए थे। कई जवान जख्मी भी हुए थे। इस घटना से पूरे देश में रोष और संवेदना की लहर फैल गई थी। सरकार अब यह कोशिश कर रही है कि इस हमले में शहीद हुए जवानों के परिवार वालों को मिलने वाली सुविधाओं को उन तक पहुंचाया जा सके। इसी कड़ी में बिहार के मसौढ़ी जिले में रहने वाले शहीद जवान संजय कुमार सिन्हा की बेटी वंदना कुमारी को सरकारी नौकरी का लाभ दिया गया है।

वंदना शहीद जवान संजय कुमार सिन्हा की छोटी बेटी हैं। 2 जुलाई, 2019 को पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि ने वंदना को नियुक्ति पत्र सौंपा है। वंदना कुमारी को निम्नवर्गीय लिपिक पद के लिए नियुक्ति पत्र मिला है। वंदना का घर मसौढ़ी थाना क्षेत्र के तरेगना मठ के पास है। वंदना की शैक्षणिक योग्यता स्नातक है। निम्नवर्गीय लिपिक की नियुक्ति के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता इंटरमीडिएट होनी चाहिए। अब वंदना मसौढ़ी अनुमंडल में निम्नवर्गीय लिपिक के पद पर काम करेंगी।

जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान ने किया सीजफायर का उल्लंघन, दो जवान घायल

शहीद संजय सिन्हा की पत्नी बेबी देवी ने प्रशासन से उनकी बेटी को नौकरी देने की अपील की थी। जाहिर है अब शहीद के आश्रितों के भरण-पोषण की जिम्मेदारी वंदना पर होगी। दरअसल वंदना को पटना समाहरणालय में ज्वायनिंग दिलाई गई थी। बाद में उनकी इच्छानुसार उनकी पदस्थापना मसौढ़ी अनुमंडल में सहायक के पद पर कर दी गई। जिस वक्त वंदना को यह नियुक्ति पत्र सौंपा जा रहा था उस वक्त शहीद संजय सिन्हा के पिता महेंद्र प्रसाद भी वहां मौजूद थे। अपने बेटे की याद में महेंद्र प्रसाद की आंखें नम हो गई थीं। नियुक्ति मिलने के बाद वंदना ने अपने शहीद पिता को नमन किया और कहा कि उन्हें अपने पिता पर गर्व है।

करगिल के हीरो थे लांस नायक आबिद खान, 17 पाकिस्तानी सैनिकों को किया था ढेर

अमेरिकी टैंकों को तबाह कर पाकिस्तानी सेना को चटाई थी धूल

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App