झारखंड: गुमला में माओवादियों और पुलिस के बीच मुठभेड़, पिस्टल समेत नकली साहित्य बरामद

पुलिस ने पिस्टल समेत नकली साहित्य बरामद किया है और सर्च ऑपरेशन जारी है। ये जानकारी गुमला एसपी हरदीप पी जनार्दन ने दी है।

PLFI

सांकेतिक तस्वीर।

झारखंड (Jharkhand) के गुमला में माओवादियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई है। पुलिस को भारी पड़ता देख माओवादी घने जंगलों की आड़ में भाग निकले। घटना बिशुनपुर थाना क्षेत्र के हेसराग जंगल की है।

पुलिस ने पिस्टल समेत नकली साहित्य बरामद किया है और सर्च ऑपरेशन जारी है। ये जानकारी गुमला एसपी हरदीप पी जनार्दन ने दी है।

ये माओवादी रविंद्र गंजू दस्ते के हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, आज की मुठभेड़ रविंद्र गंजू के दस्ते के साथ हुई है। पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि हेसराग जंगल में कुछ माओवादी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में आए हुए हैं, इसकी सूचना पर सीआरपीएफ और झारखंड पुलिस के जवानों ने सर्च ऑपरेशन चलाया।

इस दौरान जवानों को आते देख माओवादियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में जवानों ने भी फायरिंग की। जवानों को खुद पर भारी पड़ता देख माओवादी घने जंगल में भाग गए।।

ये भी पढ़ें- भारत के साथ रिश्तों पर चीन ने कहा- दोस्त बनकर आगे बढ़ें, शक की निगाह से ना देखें

बताया जाता है कि भाकपा माओवादी संगठन का सब जोनल कमांडर रविंद्र गंजू लातेहार के चंदवा थाना क्षेत्र के फैसला मांझी टोला का रहने वाला है। दस लाख का इनामी रविंद्र गंजू लोहरदगा गुमला और लातेहार जिले में पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ है ।

गुमला जिले के एसपी हरदीप पी जनार्दन द्वारा नक्सलियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है और वे खुद नक्सल प्रभावित इलाकों में जाकर ग्रामीणों से मिल रहे हैं।

एसपी ने कहा है कि नक्सलियों का जड़ से सफाया किया जाएगा। उन्होंने ये भी कहा है कि नक्सली हथियार छोड़ें और मुख्यधारा में वापस आ जाएं, नहीं तो कानून सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें