Maoists

नक्सलियों (Naxalites) की तलाश में जवानों ने बड़े पैमाने पर सर्च अभियान भी चलाया हुआ है। शुरुआती जांच में पता चला है कि संभवत: कटेकल्याण एरिया कमेटी के नक्सलियों ने ही गोपनिय सैनिक बुधराम की हत्या की है।

दंतेवाड़ा जिले में लोन वर्राटू अभियान के तहत CRPF व पुलिस अधिकारियों के सामने सोमवार को तीन माओवादियों (Maoists) ने सरेंडर किया है।

खबर मिली है कि दंतेवाड़ा में सुरक्षाबलों ने सफलता हासिल करते हुए अरनपुर थाना क्षेत्र के बैनपल्ली से 2 माओवादियों (Maoists) को गिरफ्तार किया है।

छतीसगढ़ के बीजापुर जिले में बुधवार को पुलिस ने 2 अलग-अलग थाना क्षेत्रों से कुल 3 माओवादियों (Naxalites) की गिरफ्तारी की है।

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में सुरक्षाबल और माओवादियों के बीच एनकाउंटर में जवानों ने 5 माओवादियों (Maoists) को घेराबंदी कर पकड़ा गया है।

सुकमा में भी कोबरा 206, एसटीएफ, डीआरजी व जिला बल की ज्वाइंट ऑपरेशन में बंदूक के साथ दो माओवादियों (Maoists) को गिरफ्तार किया गया है।

हम आपको बताएंगे कि किस तरह आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में माओवादियों (Maoists) के खिलाफ बड़ी सफलता मिली है। माओवादियों से संबंधित अपराधों में भारी कमी आई है।

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, छत्तीसगढ़ और झारखंड, माओवादियों (Maoists) को रोकने के लिए अभी भी लगातार संघर्ष कर रहे हैं।

स्वामी (Stan Swamy) की याचिका खारिज करने वाले स्पेशल जज डीई कोथलकर ने बताया कि उनका आदेश रिकॉर्ड पर लाई गई सामग्री पर आधारित है‚ जिससे लगता है कि स्वामी प्रतिबंधित माओवादी संगठन (Maoists) के सदस्य हैं।

माओवादियों (Maoists) के खिलाफ सलवा जुडूम कार्यकर्ताओं की हत्या, पुलिस शिविर पर हमला करने, पुलिस टीम पर हमला करने और साल 2013 में बासागुड़ा के साप्ताहिक बाजार में पत्रकार साई रेड्डी की हत्या में शामिल रहने का आरोप है।

पुलिस ने बताया कि शुक्रवार को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल और जिला बल के संयुक्त दल को सावनार और कोरचोली गांव की ओर रवाना किया गया था।

गया जिले के बाराचट्टी वन क्षेत्र में बिहार पुलिस और कोबरा बटालियन की माओवादियों (Maoists) के साथ मुठभेड़ हुई है। इस मुठभेड़ में 3 लोग मारे गए हैं।

आईजी सुंदरराज पी ने इस बात की जानकारी दी है। उन्होंने कहा है कि वर्तमान में कोर्स मनुअल की तैयारी चल रही है। क्लासें दंतेवाड़ा जिला जेल में शुरू होंगी।

Bihar Elections: बिहार में माओवादी किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं। हालही में जमुई में 40 किलो विस्फोटक भी बरामद हुआ था।

प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के मुताबिक माओवादियों (Maoists) ने 2006 से जुलाई 2020 तक मुखबिरी के शक में 294 हत्याएं कीं।

पुलिस ने पिस्टल समेत नकली साहित्य बरामद किया है और सर्च ऑपरेशन जारी है। ये जानकारी गुमला एसपी हरदीप पी जनार्दन ने दी है।

साईबाबा दिल्ली यूनिवर्सिटी के राम लाल आनंद कॉलेज में प्रोफेसर थे। उन्हें महाराष्ट्र पुलिस ने दिल्ली के उनके घर से 9 मई, 2014 को गिरफ्तार किया था।

यह भी पढ़ें