झारखंड: बीते हुए साल में सुरक्षाबलों की कामयाबी, 247 नक्सली गिरफ्तार, 12 ने किया सरेंडर

झारखंड पुलिस और सीआरपीएफ (CRPF) के जवान सभी नक्सली (Naxal) संगठनों के खिलाफ एक साथ अभियान चला रहे हैं। यही कारण है कि पिछले हफ्ते पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (PLFI), तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी (TSPC), झारखंड जन मुक्ति परिषद् (JJMP) के कई सदस्य पकड़े गए। हथियारों की बरामदगी भी हुई और कई महत्वपूर्ण नक्सली वारदातों का खुलासा भी हुआ।

Naxal
फाइल फोटो।

झारखंड पुलिस और सीआरपीएफ (CRPF) के जवान सभी नक्सली (Naxal) संगठनों के खिलाफ एक साथ अभियान चला रहे हैं। यही कारण है कि पिछले हफ्ते पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (PLFI), तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी (TSPC), झारखंड जन मुक्ति परिषद् (JJMP) के कई सदस्य पकड़े गए। हथियारों की बरामदगी भी हुई और कई महत्वपूर्ण नक्सली (Naxal) वारदातों का खुलासा भी हुआ। पिछले एक साल के आंकड़े पर नजर दौड़ाएं तो पिछले साल दिसंबर तक राज्य में कुल 30 पुलिस-नक्सली मुठभेड़ हुई हैं।

इस दरम्यान कुल 24 नक्सली मारे गए हैं। इनके पास से पुलिस से लूटे गए 27 हथियारों की बरामदगी भी हुई है। वहीं, कुल 274 नक्सली (Naxal) गिरफ्तार किए गए हैं और 12 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। आंकड़ों के मुताबिक, झारखंड पुलिस ने एक साल के भीतर कुल 274 नक्सलियों-उग्रवादियों को गिरफ्तार किया है। इनमें इनामी नक्सलियों (Naxal) संख्या 24 है। इन इनामी नक्सलियों में एक स्पेशल एरिया कमेटी सदस्य, तीन जोनल कमांडर, सात सब जोनल कमांडर और 13 एरिया कमांडर सदस्य शामिल हैं।

झारखंड पुलिस ने नक्सल विरोधी अभियान के दौरान नक्सलियों के पास से लेवी के 17 लाख 51 हजार 540 रुपये भी बरामद किए हैं। सर्वाधिक लेवी की राशि की बरामदगी खूंटी जिले में हुई, जो 6 लाख 77 हजार 355 रुपये है। झारखंड में नक्सलवाद के खिलाफ पुलिस और प्रशासन की कार्रवाई जोरों पर है। आए दिन नक्सलियों की गिरफ्तारी हो रही है। इन एंटी नक्सल (Naxal) अभियानों में पुलिस को काफी हद तक कामयाबी मिल रही है।

पढ़ें: बीजापुर में नक्सलियों ने 10 वाहनों को किया आग के हवाले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here