Mahakumbh: पीएम मोदी ने कुंभ को लेकर स्वामी अवधेशानंद से की बात, कोरोना के खतरे को देखते हुए की ये अपील

देश में बेकाबू हो चुकी कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर में हर दिन दो लाख से ज्यादा नए मरीज मिल रहे हैं। कोरोना संक्रमण का प्रकोप बढ़ने के साथ ही देश में अस्पतालों की हालत बेहद खराब हो गई।

PM Narendra Modi

PM Narendra Modi

हरिद्वार में बेकाबू होते कोरोना संक्रमण को देखते हुए अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कुंभ मेला को लेकर अपील की है।

देश में बेकाबू हो चुकी कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर में हर दिन दो लाख से ज्यादा नए मरीज मिल रहे हैं। कोरोना संक्रमण का प्रकोप बढ़ने के साथ ही देश में अस्पतालों की हालत बेहद खराब हो गई। उधर, उत्तराखंड के हरिद्वार में चल रहे कुंभ (Mahakumbh) के आयोजन के बीच कोरोना विस्फोट हो गया। श्री पंच निर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर कपिल देव दास का कोरोना से निधन हो गया जबकि कई संत कोरोना पॉजिटिव हैं।

इस बीच हरिद्वार में बेकाबू होते कोरोना संक्रमण को देखते हुए अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कुंभ मेला को लेकर चुप्पी तोड़ी। प्रधानमंत्री मोदी ने आचार्य महामंडलेश्वर पूज्य स्वामी अवधेशानंद गिरि (Swami Avadheshanand) से फोन पर बात कर कुंभ मेला को समाप्त करने की अपील की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 अप्रैल की सुबह ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी।

Coronavirus: भारत में कोरोना से हालात भयावह, बीते 24 घंटे में आए 2 लाख 34 हजार से ज्यादा केस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ट्वीट कर लिखा, ”आचार्य महामंडलेश्वर पूज्य स्वामी अवधेशानंद गिरि जी से आज फोन पर बात की। सभी संतों के स्वास्थ्य का हाल जाना। सभी संतगण प्रशासन को हर प्रकार का सहयोग कर रहे हैं। मैंने इसके लिए संत जगत का आभार व्यक्त किया।” पीएम ने आगे लिखा, ”मैंने प्रार्थना की है कि दो शाही स्नान हो चुके हैं और अब कुंभ को कोरोना के संकट के चलते प्रतीकात्मक ही रखा जाए। इससे इस संकट से लड़ाई को एक ताकत मिलेगी।” 

प्रधानमंत्री से बातचीत के बाद स्वामी अवधेशानंद ने भी लोगों से भारी संख्या में कुंभ का स्नान करने के लिए हरिद्वार नहीं पहुंचने और सभी नियमों का पालन करने का आग्रह किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “माननीय प्रधानमंत्री जी के आह्वान का हम सम्मान करते हैं। जीवन की रक्षा महत पुण्य है। मेरा धर्म परायण जनता से आग्रह है कि कोविड की परिस्थितियों को देखते हुए भारी संख्या में स्नान के लिए नहीं आएं एवं नियमों का निर्वहन करें।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें