Odisha: कई हत्याओं में था इसका हाथ, 4 लाख की इनामी महिला नक्सली ने किया सरेंडर

ओडिशा (Odisha) के कोरापुट पुलिस के सामने एक महिला नक्सली (Woman Naxali) ने 27 मार्च को आत्मसमर्पण कर दिया। आत्मसमर्पण करने वाली महिला नक्सली का नाम तुलसी उलाका है।

Woman Naxali

ओडिशा (Odisha) के कोरापुट पुलिस के सामने एक महिला नक्सली (Woman Naxali) ने 27 मार्च को आत्मसमर्पण कर दिया। आत्मसमर्पण करने वाली महिला नक्सली का नाम तुलसी उलाका है। इस महिला नक्सली के सिर पर प्रशासन की ओर से चार लाख का इनाम घोषित था। पुलिस के मुताबिक, ‘वह नारायण पटना क्षेत्र समिति की सदस्य थी और कई नागरिकों और पुलिस कर्मियों की हत्याओं में शामिल थी।’

Woman Naxali
आत्मसमर्पित महिला नक्सली।

पुलिस का कहना है, ‘चूंकि महिला नक्सली (Woman Naxali) स्वेच्छा से आत्मसमर्पण कर दिया है, उसे आत्मसमर्पण नीति के अनुसार इनाम राशि दी जाएगी।’ बता दें कि इससे पहले 30 जनवरी को ओडिशा के सुंदरगढ़ जिला अंतर्गत राउरकेला पुलिस के सामने संबलपुर-देवगढ-सुंदरगढ़ (एसडीएस) डिवीजन में सक्रिय नक्सली 25 साल के पोगा सुरीन उर्फ सुमन ने आत्मसमर्पण कर दिया था।

हत्या और सुरक्षाबलों पर हमले का आरोपी, कुख्यात नक्सली सिद्धू कोड़ा का करीबी चढ़ा पुलिस के हत्थे

वह मूल रूप से झारखंड के पश्चिम सिंहभूम जिला के छोटानागरा थाना क्षेत्र के सोनापी गांव का रहने वाला है। बताया जाता है कि उसने माओवादी संगठन (Naxal Organiztions) की खोखली विचारधारा से त्रतंग आकर राउरकेला एसपी के. शिवा सुब्रमणी के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। वह साल 2013 से नक्सली घटनाओं में सक्रिय था।

30 जनवरी को राउरकेला पुलिस हेडक्वाटर्र में आयोजित एक प्रेस वार्ता में एसपी ने इसका खुलासा करते हुए कहा था कि पोगा कई बड़े नक्सली वारदातों में शामिल रहा है। बता दें कि संगठन की विचारधारा और वहां हो रहे शोषण से तंग आकर नक्सली लगातार सरेंडर कर रहे हैं। इसके अलावा सरकार की पुनर्वास नीतियों से भी प्भावित हो कर नक्सलियों का आत्मसमर्पण हो रहा है।

यह भी पढ़ें