झारखंड: गिरिडीह पुलिस ने जीता नक्सल इलाके के लोगों का दिल, करोना लॉकडाउन में थामा दिवंगत जवान के परिवार का हाथ

झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) राज्य की जनता के लिए हर वक्त तैनात है। लोगों की सेवा के लिए पुलिस प्रशासन मुस्तैद है। इसी कड़ी में गिरिडीह पुलिस के एक सराहनीय कदम ने नक्सल क्षेत्र के ग्रामीणों का दिल जीता है।

Jharkhand Police

दिवंगत जवान के घर पहुंचे गिरिडीह के एसपी।

झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) राज्य की जनता के लिए हर वक्त तैनात है। लोगों की सेवा के लिए पुलिस प्रशासन मुस्तैद है। इसी कड़ी में गिरिडीह पुलिस के एक सराहनीय कदम ने नक्सल क्षेत्र के ग्रामीणों का दिल जीता है। दरअसल, पुलिस के एक जवान के दिवंगत हो जाने के बाद जब उसके परिवार के पास कोई दूसरा सहारा ही नहीं बचा था, तब पुलिस प्रशासन ने इस परिवार का हाथ थामा।

जिले के एसपी सुरेंद्र कुमार झा खुद इस परिवार से मिलने उनके गांव पहुंच गए। एसपी सुरेंद्र कुमार झा दिवंगत सिपाही बाबूलाल हांसदा के बेंगाबाद स्थित गहिरजोर गांव पहुंचे और परिजनों को ढांढ़स बंधाया। संकट से गुजर रहे परिवार को एसपी ने राशन और आर्थिक सहयोग दिया। बता दें कि बाबूलाल हांसदा पाकुड़ जिला पुलिस में कार्यरत थे। कुछ दिन पहले उनकी मृत्यु हो गई थी। जिसके बाद उनका परिवार काफी मुश्किलों से गुजर रहा था।

Jharkhand: पलामू में नक्सलियों की कायराना करतूत! सड़क निर्माण में लगे जेसीबी को किया आग के हवाले

कोरोना वायरस (Corona Virus) से फैली महामारी के चलते देशभर में हुए लॉकडाउन (Lock Down) के कारण परिवार को सरकारी मदद भी नहीं मिल पा रही थी। मीडिया में खबर आने के बाद 15 मई को गिरिडीह जिले के सुरेंद्र कुमार एसपी झा, थाना प्रभारी और पूरी टीम के साथ पीड़ित परिवार के यहां पहुंचे। उन्होंने दुःख की इस घड़ी में परिवार को ढांढ़स बंधाया।

एसपी ने कहा कि विभागीय लाभ दिलाए जाने को लेकर सम्बंधित पदाधिकारी से वे बात करेंगे। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में परिवार को दिक्कत न हो इसको लेकर अपने स्तर से कुछ मदद देने का कोशिश की है। एसपी ने आगे कहा कि हमारा संकल्प है कि किसी को भी आपदा की इस घड़ी में भूख से मरने नहीं दिया जाएगा और हम इसका पूरा खयाल रख रहे हैं।

यह भी पढ़ें