Jharkhand: TPC के दो सब जोनल कमांडर समेत तीन नक्सली पलामू से गिरफ्तार

झारखंड की पलामू पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर 30 जनवरी की रात टीपीसी (TPC) के दो सब जोनल कमांडर और एक सहयोगी को गिरफ्तार किया। पुलिस ने इनके पास से एक पुलिस राइफल, तीन 315 का कंट्री मेड राइफल, तीन बंदूक व 10 जिंदा गोली बरामद की गई।

TPC

झारखंड की पलामू पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर 30 जनवरी की रात टीपीसी (TPC) के दो सब जोनल कमांडर और एक सहयोगी को गिरफ्तार किया।

झारखंड की पलामू पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर 30 जनवरी की रात टीपीसी (TPC) के दो सब जोनल कमांडर और एक सहयोगी को गिरफ्तार किया। पुलिस ने इनके पास से एक पुलिस राइफल, तीन 315 का कंट्री मेड राइफल, तीन बंदूक व 10 जिंदा गोली बरामद की गई। इसकी जानकारी पलामू एसपी अजय लिंडा ने 31 जनवरी को प्रेसवार्ता कर दी।

TPC
पलामू से गिरफ्तार दो JJMP और तीन TPC के नक्सली।

एसपी ने बताया कि पुलिस महानिरीक्षक अभियान के सूचना के आधार पर टीपीसी (TPC) के सब जोनल कमांडर निशांत उर्फ दारा सिंह उर्फ अमित कुमार को रांची रातू थाना अंतर्गत कमड़े गांव से गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के बाद सब जोनल कमांडर ने अपने बयान में बताया कि मेरा नाम दारा सिंह और निशांत और प्रशांत जी है। मैं गया जिले के डुमरिया थाना क्षेत्र का रहने वाला हूं। हमारे सहयोगी अभी छतरपुर, नावाबाजार और पांडू थाना क्षेत्र में सक्रिय हैं। साथ ही उसने यह भी बताया कि संगठन का कुछ हथियार नावाबाजार थाना क्षेत्र के कुंभी खुर्द गांव में उमेश साव के यहां रखा है।

एसपी के अनुसार, इस सूचना और गिरफ्तार नक्सली के बयान के आधार पर एडिशनल एसपी अरुण कुमार सिंह, एसडीपीओ छतरपुर शंभू कुमार सिंह एवं झारखंड जगुआर की टीम ने उस क्षेत्र में संयुक्त अभियान चलाकर छापेमारी की। छापेमारी के दौरान टीपीसी (TPC) दस्ता के सदस्य पुलिस को देख भागने लगे। छापेमारी टीम ने घेराबंदी करते हुए टीपीसी के नक्सली गुलाब गंझू उर्फ पंकज जी को लोडेड कंट्री मेड राइफल और चार जिंदा गोली के साथ गिरफ्तार किया। एसपी के अनुसार, गुलाब गंझू भी टीपीसी (TPC) का सब जोनल कमांडर है। इसका कार्य क्षेत्र एनएच 98 का पश्चिमी इलाका है। पुलिस ने फिर प्रशांत के निशानदेही पर नावाबाजार के कुंभी खुर्द गांव से उमेश साहू को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उमेश साहू के घर से टीपीसी (TPC) संगठन का छुपा कर रखा गया एक पुलिस राइफल एक देसी राइफल, तीन बंदूक और जिंदा गोली बरामद किया। 

पढ़ें: बोकारो में नक्सली मुठभेड़, बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में था एक करोड़ का इनामी मिथिलेश सिंह

एसपी ने बताया कि छापेमारी के दौरान पुलिस को देख कर वहां से भागे बाकी नक्सलियों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस संभावित क्षेत्र में लगातार छापेमारी कर रही है। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार नक्सलियों के विरूद्ध छतरपुर, पिपरा, मोहम्मदगंज व हैदरनगर थाना में कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनके द्वारा संगठन के नाम पर डरा धमका कर लेवी वसूलना, आगजनी की घटना को अंजाम देना, पुलिस के साथ मुठभेड़ करने सहित कई मामले दर्ज हैं। इससे पहले, पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर से सटे चैनपुर से जेजेएमपी (JJMP) के दो नक्सली गिरफ्तार किए गए। गिरफ्तार दोनों नक्सली लेवी नहीं देने के कारण एक माइंस संचालक का हाइवा जलाने की प्लानिंग कर रहे थे।

सूचना मिलने पर दोनों को गिरफ्तार किया गया। पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा के मुताबिक, गिरफ्तारी नक्सली राहुल शर्मा और अजय साव जेजेएमपी (JJMP) के एरिया कमांडर महेश भुइयां उर्फ महेश जी के काफी करीब साथी हैं। पुलिस ने इसके पास से देसी पिस्तौल, एक जिन्दा गोली, नक्सली पर्चा बरामद किया है। जानकारी के अनुसार, एक माइंस मालिक द्वारा लेवी नहीं देने पर उसके हाइवा को जलाने की प्लानिंग राहुल कर रहा था। महेश भुइयां ने इसके बदले उसे 10 हजार रुपये दिए थे। 50 हजार रुपये गाड़ी जलाने के बाद मिलना था। लेकिन घटना के अंजाम देने के पहले ही पुलिस ने राहुल को गिरफ्तार कर लिया।

पढ़ें: बोकारो में नक्सली मुठभेड़, बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में था एक करोड़ का इनामी मिथिलेश सिंह

यह भी पढ़ें