झारखंड: पलामू में नक्सली मुठभेड़, PLFI के चार उग्रवादी पुलिस के हत्थे चढ़े

झारखंड के पलामू प्रमंडल के चंदवा थाना क्षेत्र में 16 फरवरी को पुलिस और उग्रवादी संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंड ऑफ इंडिया के नक्सलियों (PLFI Naxals) के बीच मुठभेड़ हुई। यह मुठभेड़ करीब 45 मिनट तक चली। मुठभेड़ के बाद घटनास्थल और आसपास के क्षेत्रों में चलाए गए सर्च अभियान में चार नक्सली पकड़े गए। गिरफ्तार नक्सलियों के पास से बंदूक सहित कई आपतिजनक सामान बरामद किए गए। सभी गिरफ्तार नक्सलियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

PLFI Naxals
मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार PLFI के नक्सली।

जानकारी के मुताबिक, लातेहार जिले की चंदवा पुलिस को खुफिया सूचना मिली थी कि काली जंगल में पीएलएफआइ के नक्सलियों (PLFI Naxals) का दस्ता देखा गया है। नक्सली कृष्णा यादव उर्फ सुलतान उर्फ तूफान उर्फ मंडल के नेतृत्व में पीएलएफआइ के नक्सली (PLFI Naxals) किसी अप्रिय घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं।

इस सूचना के आधार पर कार्रवाई के लिए टीम गठित की गई। एसपी विपुल पांडेय और चंदवा थाना प्रभारी मदन कुमार शर्मा के संयुक्त नेतृत्व में सुरक्षाबलों की टीम सर्चिंग के लिए लंबी टोंगरी (काली जंगल) पहुंची। पुलिस को आता देख नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भी फायरिंग की।

रिमोट दबा और दुश्मन हो जाएगा खाक, Indian Army को मिलेगा आसमान में उड़ने वाला बम

इस दौरान लगभग 45 मिनट तक रुक-रुक कर फायरिंग होती रही। नक्सलियों की ओर से लगभग 40-50 राउंड और पुलिस की ओर से 20-25 राउंड फायरिंग हुई। इस दौरान पुलिस को भारी पड़ता देख नक्सली जंगल का लाभ उठा कर भाग निकले। मुठभेड़ के बाद चलाए गए सर्च अभियान में पुलिस ने चार नक्सलियों विनोद, मुन्ना उरांव, बासुदेव उरांव और सुरेश उरांव को बंदूक के साथ गिरफ्तार कर लिया।

उनके पास से चार मोबाइल फोन, घटनास्थल से चार खोखा, पैशन प्रो बाइक, यामहा आरटी फाइव और अन्य सामान भी बरामद किए गए। पुलिस निरीक्षक सह चंदवा थाना प्रभारी मदन कुमार शर्मा ने बताया कि लातेहार एसपी प्रशांत आनंद को मिली गुप्त सूचना के आधार पर यह कार्रवाई की गई।

गिरफ्तार नक्सलियों पर धारा 147,148,149,307,353 आईपीसी, 25 (1) (बी) (ए), 26, 27, 35 आम्र्स एक्ट और 17 सीएलए एक्ट (कांड संख्या 44/2020) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here