लोहरदगा: PLFI नक्सलियों ने नहर निर्माण कार्य को रोका, कर्मचारियों को दी धमकी

झारखंड (Jharkhand) के लोहरदगा जिले में नक्सलियों ने एक बार फिर उत्पात मचाया है। नक्सलियों (Naxals) ने जिले के सेन्हा थाना क्षेत्र के फुलझर नहर नाला में तोड़ार आम बगीचा के पास बन रहे फुलझर नहर नाला के निर्माण कार्य को बंद करा दिया।

Naxals

नक्सलियों ने लोहरदगा में चल रहे नहर निर्माण कार्य को रोका।

झारखंड (Jharkhand) के लोहरदगा जिले में नक्सलियों ने एक बार फिर उत्पात मचाया है। नक्सलियों (Naxals) ने जिले के सेन्हा थाना क्षेत्र के फुलझर नहर नाला में तोड़ार आम बगीचा के पास फुलझर नहर नाला के निर्माण कार्य को बंद करा दिया। जानकारी के मुताबिक, 12 जून की देर रात पीएलएफआइ (PLFI) के हथियार बंद नक्सलियों ने इस घटना को अंजाम दिया।

पीएलएफआइ के नक्सलियों (Naxalites) ने अंजाम देने के बाद घटनास्थल पर पर्चा छोड़कर जिम्मेदारी ली है। नक्सलियों ने निर्माण स्थल पर पहुंचकर वहां मौजूद कर्मचारियों को धमकी दी और निर्माण कार्य बंद करा दिया। बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने लेवी के लिए इस घटना को अंजाम दिया है। सूचना पर पुलिस (Police) ने घटनास्थल पहुंच मामले की जांच-पड़ताल की।

झारखंड: गुमला में नक्सलियों की हिमाकत, पोस्टरबाजी कर दी धमकी

जानकारी के मुताबिक, घटनास्थल पर 10-12 की संख्या में हथियारबंद नक्सली पहुंचे। नक्सलियों ने निर्माण स्थल पर काम में लगे वाहन चालक एवं मशीन ऑपरेटर के साथ मजदूर और अन्य कर्मियों के पांच मोबाइल फोन भी लूट लिए। इस बीच मजदूरों के केबिन में तीन नक्सली हथियार के साथ घुसे थे, जबकि अन्य नक्सली बाहर खड़े थे।

हालांकि, नक्सलियों (Naxals) ने मजदूरों और निर्माण कार्य से जुड़े लोगों के साथ किसी तरह की मारपीट नहीं की। लेकिन धमकाते हुए काम बंद करने को कहा। नक्सलियों ने मौके पर मौजूद कंपनी कर्मी से कहा कि बगैर लेवी दिए योजना का काम शुरू हुआ तो अंजाम बुरा होगा, वाहनों में आग लगा दी जाएगी। नक्सलियों (Naxals) ने मशीन ऑपरेटरों से कहा कि मोबाइल लूटने के बारे में भी किसी को नहीं बताना है, मोबाइल दे दिया जाएगा।

गिरिडीह: हरकतों से आ गए थे आजीज, फरसे से हमला कर ग्रामीणों ने नक्सली कमांडर को उतारा मौत के घाट

घटना के बाद से मजदूर और निर्माण कार्य से जुड़े कर्मचारी दहशत में हैं। इस घटना की पुष्टि एसपी प्रियंका मीना ने की है। एसपी के मुताबिक, घटना की सूचना मिली है। जिसके बाद पुलिस मामले की जांच-पड़ताल कर आगे की कार्रवाई कर रही है। निर्माण कार्य एजेंसी की ओर से पुलिस को घटना से संबंधित कोई आवेदन या सूचना नहीं दी गई है।

बता दें कि इस योजना पर छत्तीसगढ़ की एजेंसी काम कर रही है। यह काम साल 2018 में शुरू किया गया था। योजना के तहत कुल 7.67 किलोमीटर नहर का निर्माण कार्य कराया जाना है। जिसमें से दो किलोमीटर का निर्माण कार्य बाकी बचा हुआ है। इस योजना की लागत 11 करोड़ 16 लाख रूपए की है।

यह भी पढ़ें