Jharkhand: नक्सल प्रभावित गांव में पहुंची गिरिडीह पुलिस, ग्रामीणों को बताया कोरोना से बचने के उपाय; स्वास्थ्य जांच के साथ जरूरत के सामान का वितरण

डुमरी के अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र (Naxal Area) टेसाफुल्ली में गिरिडीह (Giridih) पुलिस ने लोगों के बीच राशन, दवाईयों सहित जरूरत के सामान का वितरण किया।

Corona Virus

झारखंड के गिरिडीह के नक्सल प्रभावित गांव में लोगों की मदद के लिए पहुंची पुलिस।

गिरिडीह के नक्सल प्रभावित क्षेत्र टेसाफुली में पहुंची पुलिस।
जिला पुलिस द्वारा लगाया गया कम्युनिटी किचन।
प्रीपेड भोजन के साथ साथ गरीब आदिवासियों के बीच बाटे सूखा अनाज।
ग्रामीणों का हुआ मुफ्त मेडिकल चेकअप
दवा, साबुन, मास्क और सेनेटाइजर का वितरण।
एसपी ने नक्सलियों (Naxals) से की मुख्य धारा में शामिल होने की अपील।

कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण का मामला बढ़ता जा रहा है। इसपर काबू पाने के लिए देशभर में 3 मई तक लॉकडाउनल की घोषणा की गई है। इस बीच पुलिस प्रशासन लोगों की मदद करने के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है। सुदूर गांवों तक पहुंच कर पुलिस लोगों को राशन और जरूरत की चीजें मुहैया करा रही है।

COVID-19: भारत में संक्रमितों का आंकड़ा 18 हजार के पार, पिछले 24 घंटे में 47 लोगों की मौत

इसी कड़ी में झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह के पारसनाथ पहाड़ के तलहटी में बसे डुमरी अनुमंडल में लोगों की मदद के लिए पुलिस पहुंची। डुमरी के अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र (Naxal Area) टेसाफुल्ली में गिरिडीह (Giridih) के एसपी सुरेन्द्र कुमार झा ने जिला प्रशासन की ओर से कम्युनिटी किचन के तहत आदिवासियों की बीच खाद्य सामग्री सहित खिचडी का वितरण किया।

साथ ही गांव के लोगों के लिए नि:शुल्क हेल्थ चेकअप कैम्प भी लगाया गया। इस कैंप में आदिवासियों का स्वास्थ्य जांच किया गया और बीमार लोगों के बीच दवाइयों का भी वितरण किया गया। इसके अलावा, गांव वालों के बीच साबुन, मास्क और सेनेटाइजर का वितरण पुलिस प्रशासन द्वारा किया गया। इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना (Corona Virus) के संक्रमण से बचने के उपायों के बारे में भी गांव वालों को जानकारी दी गई।

FATF में ब्लैक लिस्ट होने से बचने के लिए पाकिस्तान की चाल, निगरानी सूची से हटाए 1800 आतंकियों के नाम

इस दौरान एसपी ने नक्सली संगठनों (Naxal Organizations) में जुड़े लोगों को नक्सलवाद (Naxalism) छोड़कर मुख्यधारा में लौटने की अपील की। एसपी ने कहा कि मुख्यधारा में लौट कर देश और समाज की हित में काम करें। वहीं, प्रशासन के इस अभियान से गांव के लोगों में काफी उत्साह का महौल देखा गया।

एसपी ने गांव के लोगों को आश्वासन दिया कि जब तक देश इस कोरोना (Corona Virus) से पैदा हुई महामारी से निपट नहीं लेता है तब तक गरीब और असहाय लोगों के बीच खाद्य सामग्री और भोजन का इंतजाम जिला प्रशासन की ओर से किया जाएगा ताकि किसी भी व्यक्ति की भूख से मौत ना हो।

यह भी पढ़ें