Jammu-Kashmir: आतंकियों ने ट्रक ड्राइवर की गोली मारकर हत्या की

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में आतंकियों ने 14 अक्टूबर को राजस्थान के एक ट्रक ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं, एक संदिग्ध पाकिस्तानी नागरिक समेत दो आतंकवादियों ने बाग के मालिक के साथ भी मारपीट की।

CRPF

सांकेतिक तस्वीर

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के शोपियां में आतंकियों ने बीते सोमवार (14 अक्टूबर, 2019) को राजस्थान के एक ट्रक ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं, एक संदिग्ध पाकिस्तानी नागरिक समेत दो आतंकवादियों ने बाग के मालिक के साथ भी मारपीट की।

Jammu-Kashmir

आतंकियों ने ट्रक को आग के हवाले कर दिया। वारदात की जानकारी मिलते ही सुरक्षाबल भी मौके पर पहुंचे गए। पूरे इलाके को घेरकर तलाशी अभियान चलाया गया।पुलिस के मुताबिक, Jammu-Kashmir में फलों से भरे ट्रकों की आवाजाही शुरू होने से हताश होकर आतंकवादियों ने शीरमाल गांव में हमला किया। मृतक की पहचान शरीफ खान के रूप में की गई है। पुलिस ने कहा, ‘‘सोमवार की घटनाओं को लेकर स्थानीय लोगों में रोष है।’’ उन्होंने बताया कि हमले में शामिल आतंकवादियों में से एक के पाकिस्तानी होने का संदेह है। प्रारंभिक रिपोर्टों में कहा गया था कि बदमाशों द्वारा ट्रक फूंके जाने के बाद ड्राइवर की मौत हुई।

वहीं, एक अन्य घटना Jammu-Kashmir के कुपवाड़ा में हुई। यहां एलओसी के पास हुए विस्फोट में एक जवान शहीद हो गया। पुलिस के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा के नौगाम सेक्टर में एलओसी के पास बारूदी सुरंग में विस्फोट हुआ। विस्फोट में सेना का एक जवान शहीद हो गया। यह घटना तब हुई है जब कश्मीर में करीब 72 दिन के प्रतिबंध के बाद 14 अक्टूबर को पोस्टपेड मोबाइल सेवाएं बहाल हुईं। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से संचार सेवाएं बंद थी।

स्थिति सामान्य करने के लिए Jammu-Kashmir के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने 10 अक्टूबर को पर्यटकों के लिए जारी सुरक्षा परामर्श वापस लिया था। केंद्र सरकार ने 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला लिया था। इसके मद्देनजर घाटी में बड़ी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। 5 अगस्त के बाद घाटी में आतंकवाद से जुड़ी घटनाओं में काफी कमी देखी गई है।

पढ़ें: जानिए Indian Army के उन रेजीमेंट के बारे में जिनके नाम से ही कांपते हैं दुश्मन

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें