Chhattisgarh: मिनपा में सड़क निर्माण की सुरक्षा में लगे जवानों ने बरामद की 10 किलो की आईईडी, मौके पर किया डिफ्यूज

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित सुकमा (Sukma) जिले में सर्चिंग के दौरान आईईडी (IED) बरामद हुआ है। नक्सल प्रभावित मिनपा में सड़क निर्माण कार्य की सुरक्षा के दौरान यह विस्फोटक बरामद किया गया।

IED

फाइल फोटो।

निर्माण कार्य की सुरक्षा के लिए कैंप से सीआरपीएफ (CRPF) और जिला बल के जवान निकले थे। इसी दौरान सर्चिंग के दौरान करते हुए जवानों ने आईईडी (IED) बरामद की।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित सुकमा (Sukma) जिले में सर्चिंग के दौरान आईईडी (IED) बरामद हुआ है। नक्सल प्रभावित मिनपा में सड़क निर्माण कार्य की सुरक्षा के दौरान यह विस्फोटक बरामद किया गया, जिसे जवानों ने मौके पर ही डिफ्यूज कर दिया। समय रहते आईईडी बरामद हो जाने से बड़ा हादसा टल गया।

जानकारी के मुताबिक, निर्माण कार्य की सुरक्षा के लिए कैंप से सीआरपीएफ 150 और जिला बल के जवान निकले थे। इसी दौरान सर्चिंग के दौरान करते हुए जवानों ने आईईडी (IED) बरामद की। सुरक्षाबलों ने तत्काल इसे डिफ्यूज कर दिया। इस घटना की पुष्टि जिले के एसपी केएल ध्रुव ने की।

चिलखारी नरसंहार में शामिल कुख्यात कोल्हा यादव गिरफ्तार, ऐसे बना नक्सली

एसपी के अनुसार, निर्माणाधीन सड़क की सुरक्षा के लिए 12 अप्रैल की सुबह सीआरपीएफ (CRPF) और जिला बल के जवान सर्चिंग पर रवाना हुए थे। मिनपा व बुर्कापाल के बीच गांव के समीप जवानों को सर्चिंग के दौरान आईईडी बरामद हुई। इसका वजन लगभग 10 किलो का बताया गया। जवानों ने आईईडी (IED) को मौके पर ही डिफ्यूज कर दिया, जिससे हादसा टल गया।

बता दें कि सुकमा जिले का मिनपा घोर नक्सल प्रभावित इलाका है। यहां सड़क निर्माण का काम चल रहा है, जिसमें नक्सली (Naxalites) उत्पन्न करना चाहते हैं। सूत्रों की मानें तो नक्सली सड़क निर्माण में लगे वाहनों को जलाने की फिराक में हैं, लेकिन जवान यहां मुस्तैदी के साथ गश्त कर रहे हैं।

ये भी देखें-

जवानों की निगरानी और देखरेख के बीच निर्माण कार्य चल रहा है, यही वजह है कि नक्सली अपने नापाक मंसूबों में कामयाब नहीं हो पा रहे। गौरतलब है कि मिनपा वही गांव है, जहां पिछले साल 17 जवान शहीद हुए थे। इस साल इलाके में कैंप स्थापित कर दिया गया और मुख्य सड़क से कैंप को जोड़ने के लिए सड़क निर्माण कराया जा रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें