छत्तीसगढ़: सुकमा में सुरक्षाबलों ने नक्सली को गिरफ्तार किया, कारतूस बरामद

छत्तीसगढ़ में पुलिस और सुरक्षाबलों को नक्सलियों के खिलाफ लगातार कामयाबी मिल रही है। नक्सलियों की धर-पकड़ जारी है। इसी कड़ी में सुकमा जिले में पुलिस ने एक नक्सली को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सली (Naxali) के पास से 5 जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए हैं।

Naxali

सुकमा से गिरफ्तार नक्सली।

छत्तीसगढ़ में पुलिस और सुरक्षाबलों को नक्सलियों के खिलाफ लगातार कामयाबी मिल रही है। नक्सलियों की धर-पकड़ जारी है। इसी कड़ी में सुकमा जिले में जवानों ने एक नक्सली को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सली (Naxali) के पास से 5 जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए हैं। पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार किया गया शख्स नक्सल गतिविधियों में शामिल था। सुकमा एसपी शलभ सिन्हा ने इस गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

यह मामला चिंता गुफा थाना क्षेत्र का है, जहां डीआरजी (DRG) और एसटीएफ (STF) की संयुक्त कार्रवाई के दौरान इस नक्सली को पकड़ा गया है। बताया जा रहा है कि नक्सली जवानों को आता देख भागने की कोशिश कर रहा था। बता दें कि प्रदेश में नक्सलवाद के खिलाफ पुलिस प्रशासन को सफलता मिल रही है।

बिहार: श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आ रहा था नक्सली, STF ने स्टेशन पर दबोचा

प्रशासन द्वारा नक्सलियों पर जबरदस्त प्रहार का असर दिखने लगा है। कई बड़े नक्सली (Naxals) या तो घेर कर ढेर कर दिए गए हैं या फिर उन्होंने कानून के डर से सरेंडर कर दिया है। अब सुकमा में एक साथ 7 नक्सलियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के सामने घुटने टेक दिए। सरेंडर करने वाले नक्सलियों में एक महिला नक्सली (Woman Naxali) भी है।

इनमें से कई नक्सली बुर्कापाल में हुई आगजनी सहित और अन्य वारदातों में शामिल रहे हैं। इनमें एक कोंटा एरिया कमेटी इंचार्ज का बॉडीगार्ड भी है। बताया जा रहा है कि इन्होंने सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर सरेंडर किया है। इसके अलावा, 9 जून को प्रदेश के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में एक इनामी नक्सली ने आत्मसमर्पण कर दिया है।

इस नक्सली (Naxali) का नाम राजू आयाम है। इस पर प्रशासन की ओर से दो लाख का इनाम था। वह मिलिट्री प्लाटून नंबर 16 का सदस्य था। नक्सली ने एसपी कमलोचन कश्यप और सीआरपीएफ डीआईजी कोमल सिंह के सामने सरेंडर कर दिया। पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप के मुताबिक, छत्तीसगढ़ सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर 9 जून को नक्सली ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया है।

यह भी पढ़ें