बिहार: श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आ रहा था नक्सली, STF ने स्टेशन पर दबोचा

बिहार (Bihar) के वैशाली जिले में सुरक्षाबलों ने 9 जून को एक हार्डकोर नक्सली (Naxali) को गिरफ्तार कर लिया। गुवाहाटी से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आ रहे हार्डकोर नक्सली मंटुन पासवान को एसटीएफ (STF) ने किऊल स्टेशन पर दबोच लिया।

Naxali

सांकेतिक तस्वीर।

बिहार (Bihar) के वैशाली जिले में सुरक्षाबलों ने 9 जून को एक हार्डकोर नक्सली (Naxali) को गिरफ्तार कर लिया। गुवाहाटी से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आ रहे नक्सली मंटुन पासवान को एसटीएफ (STF) ने किऊल स्टेशन पर दबोच लिया। गिरफ्तार हार्डकोर नक्सली वैशाली जिला का रहने वाला है।

जानकारी के अनुसार, 9 जून को वह असम के गुवाहाटी से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से वापस पटना लौट रहा था। हार्डकोर नक्सली (Hardcore Naxali) के वापस लौटने की भनक मिलने के बाद STF की टीम ने जाल बिछाकर उसे किऊल स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार नक्सली को एसटीएफ की टीम अपने साथ लेकर पटना गई।

लगातार हो रहा नक्सलियों का आत्मसमर्पण, अब बीजापुर में 2 लाख के इनामी नक्सली ने किया सरेंडर

कुख्यात नक्सली (Naxali) मंटून पासवान पर दर्जनों बम विस्फोट, यूएपीए एक्ट, सहित कई संगीन ममाले दर्ज हैं। वह कई बड़ी घटनाओं को अंजाम देने के बाद असम भाग गया था। पुलिस को काफी समय से उसकी तलाश थी। बता दें कि नक्सली (Naxali) मुनीलाल राम की गिरफ्तारी के विरोध में भाकपा माओवादी उत्तर बिहार जोनल कमिटी के आह्वान पर 5 दिसंबर 2018 को नॉर्थ बिहार बंद का आह्वान किया गया था।

इसी को लेकर भाकपा माओवादी उत्तर बिहार जोनल कमेटी द्वारा जंदाहा बाजार के कुशवाहा चौक सहित कई स्थानों पर माओवादी पोस्टर चिपकाए गए थे, जिसमें धमकी दी गई थी। संगठन द्वारा 5 दिसंबर को आहूत नॉर्थ बिहार बंद को सफल बनाने का आह्वान किया गया था। पुलिस द्वारा नक्सली पोस्टर भी बरामद किया गया था।

उसी दिन देर शाम जंदाहा बाजार के कुशवाहा चौक के पास चार पहिया वाहन और बाइक सवार लोगों ने दहशत फैलाने के लिए दो बम विस्फोट भी किए थे और नक्सली नारे लगाए गए थे। पुलिस द्वारा कुशवाहा चौक के समीप से बम विस्फोट के सबूत बरामद किए गए थे। इस घटना में मंटुन पासवान भी शामिल था। इसके अलवा, उस पर अपने ही गांव के मारकेश्वर पासवान की हत्या का मामला भी दर्ज है। वह लंबे समय से फरार चल रहा था और असम में छिपकर रह रहा था।

यह भी पढ़ें