छत्तीसगढ़: तीन अलग-अलग जगहों पर हुई मुठभेड़ में 6 नक्सली ढेर

naxal, naxali, chhattisgarh, encounter in bastar, Naxalite in chhattisgarh, Naxalites created panic in Sukma, police, नक्सलियों ने मचाया उत्पात, रायपुर, सुकमा में मुठभेड़, छत्तीसगढ़, बीजापुर, पुलिस, सिर्फ सच
बस्तर में 6 नक्सली मारे गए

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बस्तर संभाग में सुरक्षाबल के जवानों ने नक्सलवाद के खिलाफ बड़ी कामयाबी हासिल की है। बस्तर संभाग के तीन जिलों में अलग-अलग मुठभेड़ में सुरक्षाबल के जवानों ने 6 नक्सलियों को मार गिराया है। 14 सितंबर की देर शाम हुई इस मुठभेड़ में दो नक्सली बीजापुर, तीन नक्सली सुकमा और एक नक्सली दंतेवाड़ा जिले में मारे जाने का खबर है। जानकारी के मुताबिक, सुकमा के जगरगुण्ड़ा-बुर्कापाल मार्ग पर सड़क काटने की सूचना पर डीआरजी के जवान सर्चिंग पर निकले। इस दौरान पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई, जिसमें तीन नक्सली मारे गए।

नक्सलियों ने करीब चार से पांच जगह पर सड़क को बुरी तरह काट दिया था और पर्चे भी फेंके था। मौके से सुरक्षाबलों ने हथियार भी बरामद किए। दरअसल, पिछले दिनों अपने साथियों के मारे जाने के बाद नक्सलियों ने बौखलाहट में इलाके में जमकर उपद्रव किया। सुकमा में नक्सलियों ने अलग-अलग जगहों पर जमकर उत्पात मचाया। नक्सलियों ने दोरनापाल जगरगुण्ड़ा मार्ग पर बुर्कापाल के पास कई जगह सड़क काट दी। इसके अलावा गोरगुंडा के पास सड़क पर लकड़ी काटकर बैनर लटका रास्ता जाम कर दिया। दोरनानाल से करीब 10 किलोमीटर दूर जगरगुण्ड़ा मार्ग पर स्थित गोरगुंडा के पास नक्सलियों ने सड़क को जाम कर दिया था। साथ ही नक्सलियों ने कश्मीर से धारा 370 हटने का विरोध किया। इसके अलावा दुसरी और भेज्जी के कोताचेरू पर भी सड़क जाम करने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

गौरतलब है कि गृह मंत्री अमित शाह ने पिछले दिनों पहली बार नक्सल समस्या को लेकर बैठक की थी। बैठक में ओडिशा, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, झारखंड समेत सभी नक्सल प्रभावित इलाकों के मुख्यमंत्री शामिल हुए थे। गृह मंत्री अमित शाह ने बैठक के दौरान कहा था कि वामपंथी उग्रवाद लोकतंत्र के विचार के खिलाफ है और सरकार इसे उखाड़ने के लिए प्रतिबद्ध है। अमित शाह ने राज्य के मुख्यमंत्रियों से उग्रवाद के मामले पर चर्चा की थी। इस बैठक में राज्य के सुरक्षा व्यवस्था पर भी मंथन किया गया था। अमित शाह ने कहा था कि बीते 5 साल में वामपंथी उग्रवाद में कमी आई है। 2016 से ही नक्सली घटनाएं कम हुई हैं।

पढ़ें: महाराष्ट्र: गढ़चिरौली में सुरक्षाबलों ने दो नक्सलियों को मार गिराया, 6 नक्सली जख्मी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here