छत्तीसगढ़: बीजापुर में मुठभेड़ के बाद जान बचाकर भागे नक्सली, जवानों ने ध्वस्त किया कैंप

नक्सल ग्रस्त बीजापुर (Bijapur) जिले में सुरक्षाबलों ने नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ कामयाबी हासिल की है। जिले में चलाए जा रहे एंटी नक्सल अभियान के तहत जवानों ने 6 अगस्त को डल्ला और मुनगा के जंगलों में मुठभेड़ के बाद नक्सलियों के एक कैंप को ध्वस्त कर दिया।

Odisha

सांकेतिक तस्वीर।

सुरक्षाबलों को भारी पड़ता देखकर नक्सली कमांडर वेल्ला और उसके साथी वहां से जान बचाकर भाग निकले। इसके बाद जवानों ने वहां मौजूद नक्सलियों के कैंप को ध्वस्त कर दिया।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल ग्रस्त बीजापुर (Bijapur) जिले में सुरक्षाबलों ने नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ कामयाबी हासिल की है। जिले में चलाए जा रहे एंटी नक्सल अभियान के तहत जवानों ने 6 अगस्त को डल्ला और मुनगा के जंगलों में मुठभेड़ के बाद नक्सलियों के एक कैंप (Naxalites Camp) को ध्वस्त कर दिया।

जिले के एसपी कमलोचन कश्यप के मुताबिक, बीजापुर के थाना गंगालूर-बासागुड़ा सीमावर्ती डल्ला और मुनगा के जंगल में नक्सलियों की उपस्थिति की सूचना पर डीआरजी (DRG), सीआरपीएफ (CRPF), एसटीएफ (STF) और कोबरा की संयुक्त टीम सर्चिंग पर निकली थी। इस दौरान सुरक्षाबलों की टीम और नक्सलियों (Naxals) के पीएलजीए कंपनी नंबर 02 के बीच मुठभेड़ हो गई।

जम्मू कश्मीर: 5 दिन पहले लापता हुए जवान का नहीं मिला सुराग, सेना ने तेज किया सर्च ऑपरेशन

सुरक्षाबलों को भारी पड़ता देखकर नक्सली कमांडर वेल्ला और उसके साथी वहां से जान बचाकर भाग निकले। इसके बाद जवानों ने वहां मौजूद नक्सलियों के कैंप को ध्वस्त कर दिया। सुरक्षाबलों ने घटनास्थल से नक्सली साहित्यऔर दैनिक उपयोग का सामान बरामद किया।

जानकारी के अनुसार, मुठभेड़ में कुछ नक्सलियों (Naxalites) के घायल होने की भी संभावना है। बता दें कि जिले में नक्सलियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। नक्सलियों की धर-पकड़ जारी है। इससे पहले, 5 अगस्त को जिले में एरिया डोमिनेशन के दौरान सुरक्षाबलों की संयुक्त कार्रवाई में तिगंनपल्ली के जंगलों से टेटेमड़गू आरपीसी में सक्रिय दो नक्सलियों (Naxals)को गिरफ्तार किया।

पकड़े गए नक्सलियों में सोड़ी भीमा और माड़वी पांडू शामिल हैं। इन नक्सलियों के पास से पुलिस ने कोर्डेक्स वायर, इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, जिलेटिन कैप्सूल और नक्सली वर्दी जवानों ने जब्त किया था। पकड़े गए नक्सली (Naxalites) वेलकनगुड़ा और सिंदूरगुड़ा के बीच मुख्य सड़क को काटने की घटना में शामिल थे। भीमा नक्सली संगठन में डॉक्टर कमेटी अध्यक्ष और पांडू स्कूल कमेटी अध्यक्ष के रुप में काम कर रहा था। दोनों कोमलपाड़ के रहने वाले हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें