जम्मू कश्मीर: 5 दिन पहले लापता हुए जवान का नहीं मिला सुराग, सेना ने तेज किया सर्च ऑपरेशन

जवानों ने शाकिर को ढूंढने के लिए शोपियां में सर्च ऑपरेशन को तेज कर दिया है। शाकिर 162 बटालियन का हिस्सा हैं।

Pakistan

सांकेतिक तस्वीर

जवान की जली हुई कार दक्षिण कश्मीर में रामभामा इलाके के पास से मिली थी. दरअसल सेना द्वारा की जा रही कार्रवाई से आतंकी बौखलाए हुए हैं। ऐसे में वे कोई भी कदम उठा सकते हैं। हालांकि शाकिर के परिवार ने अपील की है कि उन्हें कुछ ना किया जाए।

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में 5 दिन पहले लापता हुए एक जवान के बारे में अब तक कोई जानकारी सामने नहीं आ पाई है। राइफलमैन शाकिर मंज़ूर 2 अगस्त की शाम से ही लापता हैं। वह अपने परिवार के साथ ईद मनाने के लिए जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) गए थे।

जवानों ने शाकिर को ढूंढने के लिए शोपियां में सर्च ऑपरेशन को तेज कर दिया है। शाकिर 162 बटालियन का हिस्सा हैं। मीडिया रिपोर्ट्स में कई जगह इस बात की आशंका जताई गई है कि जवान का आतंकियों ने अपहरण कर लिया है। कुलगाम में जली हुई कार मिलने से इस बात की चर्चा और तेज हो गई है।

ये भी पढ़ेंजम्मू-कश्मीर: अनुच्छेद 370 और 35A को हटाने के एक साल बाद कितना बदला माहौल? जानें क्या थे ये कानून

बता दें कि जवान की जली हुई कार दक्षिण कश्मीर में रामभामा इलाके के पास से मिली थी. दरअसल सेना द्वारा की जा रही कार्रवाई से आतंकी बौखलाए हुए हैं। ऐसे में वे कोई भी कदम उठा सकते हैं। हालांकि शाकिर के परिवार ने अपील की है कि उन्हें कुछ ना किया जाए।

बता दें कि मई 2017 में भी आतंकियों ने लेफ्टिनेंट उमर फैयाज का अपहरण किया था और बाद में उनकी हत्या कर दी थी। इसी तरह 2018 में एक और जवान औरंगजेब को भी आतंकियों ने किडनैप किया था। औरंगजेब उस समय अपने परिवार के पास पुंछ जा रहे थे। बाद में उनकी भी हत्या कर दी गई थी। 

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें