Chhattisgarh: कांकेर से जवानों ने 6 नक्सलियों को गिरफ्तार किया, बंदूक बनाने की मशीन सहित भारी मात्रा में हथियार बरामद

कांकेर जिले में नक्सलियों (Naxals) के लिए हथियार बनाने वाले नक्सली सहित छह नक्सलियों को गिरफ्तार करने में पुलिस (Police) और बीएसएफ (BSF) के जवानों को सफलता मिली है।

Naxalites

सांकेतिक तस्वीर।

पकड़े गए नक्सली (Naxalites) सोमजी मंडावी, मंगलूराम मंडावी, सोमरू नुरेटी, सौधेर नुरेटी और सुंदरलाल आंचला ने बताया कि वे चैतुराम मंडावी के पास भरमार बंदूक बनवाने के लिए आए हुए थे।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में सुरक्षाबलों ने नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ बड़ी कामयाबी हासिल की है। कांकेर जिले में नक्सलियों (Naxals) के लिए हथियार बनाने वाले नक्सली सहित छह नक्सलियों को गिरफ्तार करने में पुलिस (Police) और बीएसएफ (BSF) के जवानों को सफलता मिली है।

पुलिस ने नक्सलियों के कब्जे से भरमार बंदूक बनाने की मशीन, हथियार, नकदी और अन्य नक्सली सामग्री जब्त किया है। कांकेर जिले में पुलिस को नक्सल विरोधी अभियान के तहत यह बड़ी सफलता हाथ लगी है। जानकारी के मुताबिक, कोयलीबेड़ा क्षेत्र में सर्चिंग के दौरान इन छह नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया।

Jammu-Kashmir: अवंतीपोरा में मुठभेड़, जवानों ने लश्कर के कमांडर सहित 2 आतंकियों को मार गिराया

बता दें कि नक्सली गतिविधियों पर लगाम लगाने के लिए पुलिस लगातार अभियान चला रही है और नक्सल प्रभावित क्षेत्रों (Naxal Area) में सर्चिंग कर रही है। इसी के तहत कोयलीबेड़ा क्षेत्र में 26 सितंबर को पुलिस बल और बीएसएफ की संयुक्त पार्टी सर्चिंग के लिए रवाना हुई थी। सर्चिंग के दौरान जुगडा गांव के पास पुलिस पार्टी को देखकर कुछ लोग भागने लगे।

इस पर पुलिस और बीएसएफ की संयुक्त टीम ने घेराबंदी कर उन्हें पकड़ लिया। पकड़े गए लोगों में पटेलपारा जुगडा के रहने वाले चैतूराम मंडावी और सोमजी मंडावी, बोगान थाना ओरछा नारायणपुर का मंगलूराम मंडावी, थाना ओरछा नारायणपुर के तोड़ोबेड़ा के रहने वाले सोमारू नुरेटी, बोगान थाना ओरछा, नारायणपुर के सौधेर नुरेटी, गोदुल का रहने सुंदरलाल आंचला को गिरफ्तार कर लिया।

लद्दाख में जारी भारत-चीन तनाव पर बोले वायु सेना प्रमुख, युद्ध के मुद्दे पर दिया ये बयान

पूछताछ में चैतूराम मंडावी ने पुलिस को बताया कि वह नक्सली संगठन के लिए हथियार बनाने और उनके प्रचार-प्रसार के लिए काम करता है। पकड़े गए नक्सली (Naxalites) सोमजी मंडावी, मंगलूराम मंडावी, सोमरू नुरेटी, सौधेर नुरेटी और सुंदरलाल आंचला ने बताया कि वे चैतुराम मंडावी के पास भरमार बंदूक बनवाने के लिए आए हुए थे।

साथ ही उन्होंने पूछताछ में यह बात भी बताया कि उनके द्वारा गांव-गांव में जाकर बैनर-पोस्टर के माध्यम से नक्सली विचारधारा का प्रचार किया जाता है। इसके बाद बीएसएफ और पुलिस की संयुक्त पार्टी द्वारा नक्सलियों को डुटटा बीएसएफ कैंप लेकर पहुंची। सूचना मिलने पर कोयलीबेड़ा प्रभारी अपनी टीम और बीएसएस की टीम के साथ घटना स्थल पर पहुंचे।

ये भी देखें-

जहां नक्सलियों (Naxalites) की निशानदेही पर भरमार बंदूक बनाने की मशीन, नक्सली बैनर, पोस्टर, पैम्फलेट, एक मोटर साइकिल और नगदी 7500 रुपये जब्त किए गए। इसके बाद नक्सलियों को न्यायालय में पेश कर उन्हें जेल भेज दिया गया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें