जिस पुल से जाते थे डॉक्टर विस्फोट कर उसे उड़ाया, कोरोना के बीच नक्सलियों की बड़ी करतूत

अब छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों (Naxals) ने एक गांव का पुल तोड़ दिया। सबसे गंभीर बात यह है कि जिस पुल को नक्सलियों ने निशाना बनाया उसी पुल से होकर डॉक्टरों की मेडिकल टीम लोगों के इलाज के लिए आवाजाही करती है।

Naxals

सांकेतिक तस्वीर।

कोरोना (Corona Virus) से जंग के बीच नक्सली लगातार सभी के लिए मुश्किलें खड़ी करने की कोशिश में लगे हुए हैं। अब छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों (Naxals) ने एक गांव का पुल तोड़ दिया। सबसे गंभीर बात यह है कि जिस पुल को नक्सलियों ने निशाना बनाया उसी पुल से होकर डॉक्टरों की मेडिकल टीम लोगों के इलाज के लिए आवाजाही करती है। पुल के तोड़े जाने के बाद सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों को चिकित्सीय सुविधाएं मिलने में काफी परेशानियां होंगी।

जिले के कटेकल्याण ब्लॉक के टेटम और तुमकपाल गांव के बीच नक्सलियों (Naxalites) की इस करतूत के बाद गांव वालों के सामने कई तरह की समस्याएं खड़ी हो गई हैं। इस पुल के एप्रोच रोड को पहले ही छतिग्रस्त कर दिया था। जिसकी वजह से इस पुल से वाहनों की आवाजाही बंद थी। लकड़ी की पटिया लगाकर ग्रामीण पैदल या साइकिल से पार होते थे। नाले में पानी कम होने पर वाहन नीचे से ही गुजरते थे। नक्सलियों (Naxals) के इस करतूत से सभी लोग परेशान हैं।

दिल्ली: कोरोना के कारण CRPF मुख्यालय सील, अर्द्धसैन्य बल के 136 जवान संक्रमित

दरअसल, टेटम में प्रशासन एक पुलिस कैंप खोलना चाहता था। लेकिन नक्सलियों (Naxals) को यह बात हमेशा से ही नागवार रही है। कहा जा रहा है कि पुलिस उन तक ना पहुंच सके इसी डर की वजह से नक्सलियों ने इस पुल को उड़ाया है। लॉकडाउन के बीच इस इलाके में अन्य राज्य से ग्रामीण लौट रहे हैं। यह वो लोग हैं जो रोजी-रोटी के लिए तेलंगाना और आंध्रप्रदेश मजदूरी करने गए थे। लेकिन पुल के टूट जाने की वजह से आम लोगों के लिए भी परेशानियां खड़ी हो गई हैं।

बताया जा रहा है कि नक्सलियों (Naxals) ने विस्फोट कर इस पुल को तोड़ा है। आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण के फैलने के खतरे के बीच नक्सली अलग-अलग तरह से प्रशासन के लिए मुश्किलें खड़ी कर रहे हैं। कुछ ही दिनों पहले यह सूचना आई थी कि नक्सली (Naxali) गांवों में जरुरतमंद लोगों को मिल रहा राशन-पानी भी लूट रहे हैं। इतना ही नहीं वो गरीब गांववालों से पैसे भी वसूल रहे हैं।

इसके अलावा यह भी खबर आई थी कि नक्सली (Naxali) आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा और अन्य नक्सल प्रभावित इलाकों में नक्सली लोगों को अवैध तरीके से घर भी पहुंचा रहे हैं। इससे इन गांवों में कोरोना फैलने का खतरा भी बढ़ गया है। नक्सलियों के इस नापाक करतूत की वजह से ही पुलिस-प्रशासन इस वक्त दोहरे मोर्चे पर लड़ाई लड़ रही है। 

यह भी पढ़ें