छत्तीसगढ़ के बीजापुर में इनामी नक्सली दंपत्ति ने किया सरेंडर, खोखली विचारधारा से आ गए थे तंग

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बस्तर रेंज में चलाए जा रहे नक्सली उन्मूलन अभियान के तहत पुलिस (Police) को बड़ी कामयाबी मिली है। यहां, बीजापुर जिले में एक हार्डकोर नक्सली दंपत्ति (Naxal Couple) ने सरेंडर कर दिया है।

Naxal Couple

बीजापुर में इनामी नक्सली दंपत्ति ने सरेंडर कर दिया।

BREAKING NEWS: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बस्तर रेंज में चलाए जा रहे नक्सली उन्मूलन अभियान के तहत पुलिस (Police) को बड़ी कामयाबी मिली है। यहां, बीजापुर जिले में एक हार्डकोर नक्सली दंपत्ति (Naxal Couple) ने सरेंडर कर दिया है। ये दोनों एमएमसी जोन यानी महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के इलाकों में पिछले 3-4 सालों से सक्रिय थे।

शोपियां में आतंकी ठिकाने का भंडाफोड़, सोपोर एनकाउंटर में दो आतंकी ढेर; बडगाम में आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश

ये दोनों नक्सली बीजापुर के ही रहने वाले हैं। पुलिस के अनुसार, ये दोनों कई नक्सली वारदातों में शामिल रहे हैं। इन दोनों पर प्रशासन की ओर से 2-2 लाख का इनाम घोषित था। इस नक्सली दंपत्ति (Naxal Couple) ने बीजापुर के पुलिस अधीक्षक कमल लोचन कश्यप के सामने सरेंडर किया। जानकारी के अनुसार, इन दोनों ने संगठन की खोखली विचारधारा, भेदभाव पूर्ण व्यवहार एवं प्रताड़ना से तंग आकर और छत्तीसगढ़ शासन के पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर आत्मसमर्पण किया है।

नक्सली दंपत्ति (Naxal Couple) के सरेंडर करने पर प्रशासन की ओर से प्रोत्साहन के रूप में 10000 हजार नगद दिया गया। इसके अलावा, शासन की आत्मसमर्पण एवं पुनर्वास नीति के तहत इन्हें सभी सुविधाएं दी जाएंगी।

बता दें कि राज्य में नक्सलवाद (Naxalism) के खिलाफ अभियान जोरों पर है। पुलिस और प्रशासन पूरी मुस्तैदी से नक्सलियों की कमर तोड़ने का काम कर रहा है। सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर और सुरक्षाबलों की कार्रवाई से डर कर लगातार नक्सलियों का सरेंडर हो रहा है।