आने वाली है नक्सलियों की शामत, बिहार-झारखंड की पुलिस हुई एकजुट

बिहार और झारखंड की पुलिस नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ एक्शन में है। अब नक्सलियों की शामत आने वाली है, क्योंकि उनके खिलाफ बिहार-झारखंड की पुलिस एकजुट हो गई है। झारखंड पुलिस मुख्यालय में डीजीपी कमल नयन चौबे की अध्यक्षता में इंटर स्टेट को-ऑर्डिनेशन कमिटी की बैठक हुई।

Naxals
बैठक में मौजूद आला अफसर।

बिहार और झारखंड की पुलिस नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ एक्शन में है। अब नक्सलियों की शामत आने वाली है, क्योंकि उनके खिलाफ बिहार-झारखंड की पुलिस एकजुट हो गई है। झारखंड पुलिस मुख्यालय में डीजीपी कमल नयन चौबे की अध्यक्षता में इंटर स्टेट को-ऑर्डिनेशन कमिटी की बैठक हुई। बैठक में बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय, झारखंड सेक्टर के सीआरपीएफ (CRPF) आईजी राजकुमार और एडीजी विशेष शाखा अजय कुमार सिंह मौजूद थे।

आगामी बिहार विधानसभा चुनाव किसी तरह से नक्सली बाधा नहीं बनें इसको लेकर 5 फरवरी को झारखंड पुलिस मुख्यालय मे बिहार और झारखंड पुलिस की साझा बैठक हुई। इस बैठक में नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ अभियान की रणनीति बनाई गई। बैठक में इस बात पर चर्चा हुई कि झारखंड और बिहार की सीम पूरी तरह से नक्सन प्रभावित है। इन्हीं इलाकों में नक्सली अपना ठिकाना बनाते हैं। यहां से वे दोनों राज्यों के अलग-अलग हिस्सों में हिंसा फैलाते हैं। जानकारी के मुताबिक, झारखंड के डीजीपी कमल नयन चौबे ने बिहार के डीजीपी गुप्तेशवर पांडेय को आश्वस्त किया है कि झारखंड पुलिस ने कमर कस लिया है।

किसी भी तरह से नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ अभियान में कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। इस बैठक में सीमावर्ती इलाके गिरिडीह-जमुई, चतरा-गया, हजारीबाग-गया, पलामू-औरंगाबाद में संयुक्त अभियान चलाने की रणनीति भी बनी। इन इलाकों में सक्रिय नक्सली संगठनों की लिस्ट भी अधिकारियों ने साझा किया। बैठक में दोनों राज्यों की पुलिस के बीच आपसी संपर्क और समन्वय पर चर्चा की गई और नक्सली अभियानों पर भी मंथन किया गया।

पढ़ें: पाकिस्तान को लगा झटका, कश्मीर मुद्दे पर OIC की बैठक बुलाने के लिए तैयार नहीं सऊदी अरब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here