Delhi voilence Ankit Sharma Murder News: मां को चाय बनाने के लिए कह कर घर से निकले थे IB के कर्मचारी अंकित शर्मा…

Delhi voilence Ankit Sharma Murder News: घर पर मां चाय के लिए अंकित का इंतजार करती रही, लेकिन शायद उनके नसीब में मां के हाथ की चाय नहीं लिखी थी।

Ankit Sharma

अंकित हेलमेट पहनकर पैदल ही घर से निकले थे।

Delhi voilence Ankit Sharma Murder News: हिंसा को हवा देकर दिल्ली को तीन दिनों तक सुलगता हुआ छोड़ दिया गया। हिंसा की आग में कई जिंदगानियां झुलस गईं। 26 फरवरी को नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के चांदबाग इलाके से इंटेलिजेंस ब्यूरो (intelligence bureau) के कर्मचारी अंकित शर्मा का जब शव मिला तो सभी चकित रह गए। अंकित शर्मा की हत्या हुई है और उनकी हत्या काफी बेरहमी से की गई है। अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि दंगाइयों ने उनके शरीर पर कई बार चाकू से वार किए।

Delhi Voilence
अंकित हेलमेट पहनकर पैदल ही घर से निकले थे। (फोटो सोर्स- ट्विटर, @RahulPandita/File photo)

ऑटोप्सी रिपोर्ट के मुताबिक, अंकित पर धारदार-नुकीले हथियार से हमला किया, जिससे उन्हें कई चोटें आईं। उनके पेट और सीने में कुछ ज्यादा गहरे घाव थे। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने साफ किया है कि अंकित को बार-बार बेदर्दी से चाकू मारे गए, जिससे उसकी मौत हो गई।

अंकित, खजूरी खास इलाके में अपने परिवार के साथ रह रहे थे। अंकित के भाई अंकुर शर्मा ने बताया कि उस दिन ड्यूटी से आने के बाद घर के दरवाजे के पास अंकित ने अपनी बुलेट खड़ी की। इसी दौरान मां सुधा शर्मा भी उनके पास पहुंच गई। अंकित ने मां को अपना मोबाइल और पर्स जेब से निकालकर दे दिया और कहा कि वह थोड़ी देर में आ रहे हैं।

मां ने कहा कि चाय पीकर चले जाना। अंकित ने मां को चाय बनाने के लिए कहा और थोड़ी देर में ही वापस आने का वादा कर चले गए। हेलमेट पहने हुए पैदल ही घर से निकले अंकित फिर कभी नहीं लौटे।

Delhi Protest: हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल को भीड़ ने क्यों मारा?

घर पर मां चाय के लिए अंकित का इंतजार करती रही, लेकिन शायद उनके नसीब में मां के हाथ की चाय नहीं लिखी थी। अंकित के पड़ोसियों के मुताबिक, “घटना वाली शाम अंकित घर के बाहर की भीड़ को समझा कर शांत करवाने गए थे। उसी वक्त भीड़ ने उन्हें अपने बीच घसीट लिया। उसके बाद से अंकित का कोई पता नहीं चला था।

26 फरवरी को सुबह अंकित का शव चांद बाग पुलिया के पास नाले में पड़ा मिला।” पता यह भी चला था कि हत्या के बाद उनके शव को नाले में दबा दिया गया था।

अंकित शर्मा की उम्र महज 26 साल थी। अंकित ने 2017 में आईबी में ज्वॉइन किया था। बताया जा रहा है कि वो प्रोबेशन पर थे। ट्रेनी ड्राइवर के तौर पर अंकित चाणक्यपुरी में पोस्टेड थे। अंकित के पिता खुद भी इंटेलीजेंस ब्यूरो में हवलदार हैं और अभी हाल तक वो अंकित की शादी के लिए लड़की की तलाश कर रहे थे।

पढ़ें: भारत-पाक के सर्वोच्च नागरिक सम्मान पाने वाले देश के एकलौते प्रधानमंत्री हैं देसाई जी

उनका परिवार मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर का रहने वाला है। अंकित की मां हाउस वाइफ हैं। अंकित का परिवार दिल्ली के खजूरी खास इलाके में रहता है।

अंकित ने बारहवीं तक की पढ़ाई खजूरी खास से ही की थी। उसके बाद उन्होंने हंसराज कॉलेज से स्नातक किया था। अंकित के चाचा संजय और राजीव ने बताया कि वह जो सोचता था, उसकी सारी इच्छाएं पूरी होती थी।

 

अंकित के पिता रवींद्र चार भाई हैं। अंकित के चाचा सुबोध सेना में हैं और मेरठ में पोस्टेड हैं। छोटे, चाचा संजय व राजीव गांव में रहकर खेती करते हैं। उनका संयुक्त परिवार है लिहाजा चारों भाइयों में बेहद प्यार भी है। अंकित शर्मा अपने माता-पिता और पूरे परिवार का सबसे लाडले बेटे थे।

यह भी पढ़ें