Bastar: रंग ला रही सुरक्षाबलों की मेहनत, एक और इनामी नक्सली ने डाले हथियार

आयता ने भी जिंदगी के करीब 13 से इसी मुगालते में गुजार दिए कि वह अपने समाज और आदिवासियों के हितों की लड़ाई लड़ रहा है। पर, जब असलियत से सामना हुआ तो संगठन में उसका दम घुटने लगा।

Bastar

Bastar

नक्सलवाद के खिलाफ छत्तीसगढ़ सरकार की नीतियों और पुलिस की कार्यशैली का नतीजा है कि अब नक्सलवाद की जड़ें खोखली हो चली हैं। राज्य से आए दिन नक्सलियों के आत्मसमर्पण की खबरे आ रही हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को एक लाख के इनामी नक्सली आयता माड़वी ने बस्तर के SP के समक्ष आत्मसमर्पण किया है। समर्पित नक्सली आयता बस्तर जिले के कलेपाल जनमिलिशिया कमांडर के रूप में सक्रीय था. जिला मुख्यालय में नक्सली आयता माड़वी के सरेंडर के बाद 1लाख के इस इनामी नक्सली को पुलिस अधिकारियों ने 10 हजार रुपये का चेक देकर समाज की मुख्यधारा में स्वागत किया। बस्तर जिले के एसपी दीपक झा ने बताया कि आयता अपहरण, हत्या, पुलिस पर फायरिंग, लूटपाट और आगजनी जैसी कई संगीन वारदातों में भी शामिल रहा है। 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें