Malkangiri

तीनों नक्सलियों (Naxalites) ने पुलिस की कड़ी सुरक्षा में सरेंडर किया। इस दौरान जिला पुलिस अधीक्षक ऋषिकेश खिलारी और बीएसएफ के अधिकारी मौजूद रहे।

तीनों नक्सलियों (Naxalites) ने पुलिस की कड़ी सुरक्षा में सरेंडर किया। इस दौरान जिला पुलिस अधीक्षक ऋषिकेश खिलारी और बीएसएफ के अधिकारी मौजूद रहे।

नक्सलियों (Naxalites) द्वारा लगाई गई इस आग में तीनों वाहन बुरी तरह जल गए हैं। कहा जा रहा है कि नक्सली आग लगाने के बाद फरार हो गए।

पुलिस के मुताबिक, ओडिशा के मलकानगिरी के स्वाभिमान अंचल के जंगलों में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई।

ओडिशा के मलकानगिरी को एक नई पहचान मिली है। नक्सल हिंसा के लिए कुख्यात इस क्षेत्र को नई पहचान दी है यहां की एक आदिवासी बेटी अनुप्रिया लाकरा (Anupriya Lakra) ने। इस इलाके से पहली बार कोई महिला पायलट बनी है।

मधि का कहना है कि हम कई महीनों से आत्मसमर्पण करना चाहते थे। लेकिन इसके लिए हमें सही मौके की तलाश थी। हमने अपने साथियों से कहा कि हम कुछ दिनों के लिए गांव जा रहे हैं। चूंकि हम लंबे समय से संगठन से जुड़े हुए थे, इसलिए किसी को भी हम पर शक नहीं हुआ। 

ओडिशा में माओवादियों का गढ़ मने जाने वाले मालकानगिरी ज़िले की रहने वाली सिरिसा करामी ने कुछ वर्ष पूर्व भारतीय महिला वॉलीबॉल टीम में स्थान हासिल किया।

यह भी पढ़ें