Malkangiri

ओडिशा के मलकानगिरी को एक नई पहचान मिली है। नक्सल हिंसा के लिए कुख्यात इस क्षेत्र को नई पहचान दी है यहां की एक आदिवासी बेटी अनुप्रिया लाकरा (Anupriya Lakra) ने। इस इलाके से पहली बार कोई महिला पायलट बनी है।

मधि का कहना है कि हम कई महीनों से आत्मसमर्पण करना चाहते थे। लेकिन इसके लिए हमें सही मौके की तलाश थी। हमने अपने साथियों से कहा कि हम कुछ दिनों के लिए गांव जा रहे हैं। चूंकि हम लंबे समय से संगठन से जुड़े हुए थे, इसलिए किसी को भी हम पर शक नहीं हुआ। 

ओडिशा में माओवादियों का गढ़ मने जाने वाले मालकानगिरी ज़िले की रहने वाली सिरिसा करामी ने कुछ वर्ष पूर्व भारतीय महिला वॉलीबॉल टीम में स्थान हासिल किया।

यह भी पढ़ें