Chhattisgarh: बीजापुर में नक्सलियों के कैंप पर जवानों ने बोला धावा, भागे नक्सली

नक्सलियों (Naxalites) द्वारा शहीदी सप्ताह की घोषणा के साथ ही सुरक्षा बल भी पूरी तरह सक्रिय हो गए हैं। अलर्ट जारी कर नक्सलियों की हर मूवमेंट पर नजर रखी जा रही है। जवान नक्सल प्रभावित अंदरूनी इलाकों तक गश्ती पर पहुंच रहे हैं।

Naxalites

बीजापुर में जवानों ने नक्सली कैंप पर धावा बोला।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में जवानों ने सर्चिंग के दौरान नक्सलियों का भारी नुकसान किया है। दरअसल, नक्सल प्रभावित बीजापुर (Bijapur) में डीआरजी (DRG) जवानों ने सर्चिंग के दौरान सुबह नक्सलियों के कैंप पर धावा बोल दिया। यह घटना गंगालूर थाना क्षेत्र की है। सुरक्षाबलों के पहुंतचे ही नक्सली वहां से कैंप छोड़कर भाग निकले। मौके से जवानों ने पके हुए भोजन के साथ ही दैनिक उपयोग की चीजें बरामद किया।

बता दें कि नक्सली (Naxalites) 28 जुलाई से 3 अगस्त तक शहीदी सप्ताह मना रहे हैं। वे जगह-जगह बैनर-पोस्टर लगा रहे हैं। शहीदी सप्ताह के दौरान वे अपने मारे गए साथियों को याद करते हैं। बता दें कि नक्सली (Naxals) अपने प्रभाव वाले क्षेत्रों में पुलिस के साथ मुठभेड़ में अपने मारे गए अपने साथियों के नाम से नक्सली स्मारक (Naxali Monument) बनाते हैं।

साथ ही इस दौरान नक्सली इस फिराक में रहते हैं कि इस वे किसी बड़ी वारदात को अंजाम दें। नक्सलियों (Naxalites) द्वारा शहीदी सप्ताह की घोषणा के साथ ही सुरक्षा बल भी पूरी तरह सक्रिय हो गए हैं। अलर्ट जारी कर नक्सलियों की हर मूवमेंट पर नजर रखी जा रही है। जवान नक्सल प्रभावित अंदरूनी इलाकों तक गश्ती पर पहुंच रहे हैं।

तिलमिलाए चीन ने दी गीदड़भभकी, कहा- अपनी अर्थव्यवस्था से हमें अलग न करे भारत

जानकारी के मुताबिक, नक्सलियों के शहीदी सप्ताह के चौथे दिन पुलिस को खुफिया जानकारी मिली थी कि 20-25 की संख्या में नक्सली और उनके लीडर के जंगल में मौजूद हैं। इसी जानकारी के आधार पर गंगालूर थाने से डीआरजी के जवानों को रवाना किया गया। सुबह करीब 8.30 बजे जवानों ने नक्सली कैंप पर धावा बोल दिया।

जवानों को अचानक सामने देख नक्सली वहां से भाग निकले। जवानों ने मौके से दैनिक उपयोग की सामग्री, पका हुआ भोजन, बर्तन बरामद किया। बीजापुर के एसपी कमल लोचन कश्यप के अनुसार, भैरमगढ़ एरिया कमेटी सचिव चन्द्रना और उसके साथियों की मौजूदगी की सूचना पुलिस को मिली थी। इसी सूचना के आधार पर डीआरजी के जवान एंटी नक्सल ऑपरेशन पर सुबह निकले थे।