छत्तीसगढ़: पुलिस को बड़ी कामयाबी, 8 लाख के इनामी नक्सली ने सरेंडर किया

एसपी ने कहा कि कोसा मरकाम उत्तर बस्तर संभाग में माओवादी सैन्य कंपनी नंबर 05 के पलटन नंबर 2 का सदस्य था और कई घटनाओं में शामिल था।

Naxalites

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में लोन वर्राटू अभियान (घर वापसी) के तहत एक 8 लाख के इनामी नक्सली (Naxalites) कोसा मरकाम ने सरेंडर किया है। एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया कि नक्सली ने सोमवार को सरेंडर किया है।

एसपी ने कहा कि कोसा मरकाम उत्तर बस्तर संभाग में माओवादी सैन्य कंपनी नंबर 05 के पलटन नंबर 2 का सदस्य था और कई घटनाओं में शामिल था। उसने कई बड़े नक्सली (Naxalites) नेताओं के साथ काम किया है। वह उस वारदात में भी शामिल था, जिसमें 11 सैनिक शहीद हुए थे।

कोसा मरकाम के सरेंडर को पुलिस की एक बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है। दरअसल कोसा मरकाम 5 साल बाद अपने घर वापस लौटा था, यहां उसके परिजनों ने उसे लोन वर्राटू अभियान (घर वापसी) के बारे में बताया, जिसके बाद उसने सरेंडर कर दिया।

ये भी पढ़ें- COVID-19: देश में कोरोना संक्रमण का आंकड़ा पहुंचा 61 लाख के पार, 24 घंटे में आए 70,589 नए केस

सरेंडर कर चुके नक्सली मरकाम ने मीडिया में बयान भी दिया। मरकाम ने कहा कि उन्हें जबरदस्ती नक्सली समूह में शामिल किया गया था, लेकिन अब वह पुलिस विभाग में काम करना चाहते हैं।

मरकाम ने बताया, ‘2015 में नक्सलियों ने मुझे अपने साथ शामिल करने के लिए मजबूर किया था। इस दौरान मैंने केंद्रीय समिति के कई नेताओं के साथ काम किया। अब मैंने सरेंडर किया है और एक आम जिंदगी जीना चाहता हूं। मैं पुलिस के साथ काम करना चाहता हूं।’

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें