झारखंड में नेटवर्क मजबूत कर रहे नक्सली, बॉर्डर के पास के इलाकों में तनाव

नक्सलियों ने बिहार के जमुई जिले और झारखंड के गिरिडीह जिले के भेलवाघाटी, देवरी, तिसरी और गावां थाना क्षेत्रों को मिलाकर सीमांचल जोन बनाया है।

Naxalites

फाइल फोटो

नक्सली (Naxalites) भीषण उत्पात मचाते हैं और लेवी वसूलते हैं। नक्सलियों ने भेलवाघाटी एवं चिलखारी जैसे नरसंहार इसी इलाके में किए हैं। चिलखारी नरसंहार में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के पुत्र की जान जा चुकी है।

गिरिडीह: नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ झारखंड में अभियान जारी है, फिर भी वे अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। नक्सली झारखंड में अपने नेटवर्क को मजबूत करने की कोशिश में जुटे हैं, इससे सीमा के पास के इलाकों में दहशत है।

बता दें कि नक्सलियों ने बिहार के जमुई जिले और झारखंड के गिरिडीह जिले के भेलवाघाटी, देवरी, तिसरी और गावां थाना क्षेत्रों को मिलाकर सीमांचल जोन बनाया है।

Military Police Recruitment 2021: गोरखा समुदाय की महिलाओं की भर्ती में हुआ बड़ा बदलाव, यहां जानें डिटेल्स

इस जोन में नक्सली (Naxalites) भीषण उत्पात मचाते हैं और लेवी वसूलते हैं। नक्सलियों ने भेलवाघाटी एवं चिलखारी जैसे नरसंहार इसी इलाके में किए हैं। चिलखारी नरसंहार में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के पुत्र की जान जा चुकी है।

नक्सलियों से निपटने के लिए सुरक्षाबल के जवानों ने कई जगह कैंप बनाए हैं। इन जवानों से बचने के लिए नक्सली बिहार और झारखंड में इधर से उधर मूव करते रहते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें