झारखंड: 5 साल पहले ट्रेन के ड्राइवर से छीने गए वॉकी-टॉकी बरामद, नक्सलियों ने जंगलों में छिपाकर रखे थे

5 साल पहले 9 मई 2016 के दिन कोकपाड़ा स्टेशन पर धनबाद से पश्चिम बंगाल के झाड़ग्राम जा रही पैसेंजर ट्रेन (68020) के ड्राइवर को दर्जन भर नक्सलियों ने किडनैप कर लिया था।

Naxalites

5 साल पहले 9 मई 2016 के दिन कोकपाड़ा स्टेशन पर धनबाद से पश्चिम बंगाल के झाड़ग्राम जा रही पैसेंजर ट्रेन (68020) के ड्राइवर को दर्जन भर नक्सलियों (Naxalites) ने किडनैप कर लिया था और ट्रेन पर फायरिंग की थी।

मुसाबनी: झारखंड में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ अभियान जारी है। इस बीच खबर मिली है कि गुड़ाबांधा थाना क्षेत्र के महेशपुर गांव स्थित जिलिगडुंगरी पहाड़ के घने जंगल से 19 मई 2016 को पैसेंजर ट्रेन के ड्राइवर से जो वॉकी टॉकी छीने गए थे, उनको जवानों ने सर्च ऑपरेशन के दौरान बरामद कर लिया है।

बता दें कि 5 साल पहले 9 मई 2016 के दिन कोकपाड़ा स्टेशन पर धनबाद से पश्चिम बंगाल के झाड़ग्राम जा रही पैसेंजर ट्रेन (68020) के ड्राइवर को दर्जन भर नक्सलियों (Naxalites) ने किडनैप कर लिया था और ट्रेन पर फायरिंग की थी। इसके बाद नक्सलियों ने उनके वॉकी टॉकी छीन लिए थे और जंगल में भाग गए थे।

तालिबान ने कहा- किसी अफगानी को देश छोड़ने की इजाजत नहीं, अमेरिका को भी दी धमकी

लेकिन अब पूरे 5 साल बाद जवानों ने सर्च ऑपरेशन के दौरान इन वॉकी टॉकी को बरामद किया। मिली जानकारी के मुताबिक, 25 लाख के इनामी नक्सली कान्हू मुंडा के दस्ते ने इन वॉकी टॉकी को जंगल में छिपाया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें