झारखंड: पलामू पुलिस ने कुख्यात नक्सली संदीप यादव को साथियों के साथ दबोचा, लेवी के लिए दे रहा था धमकी

झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) को नक्सलियों (Naxal) के खिलाफ बड़ी सफलता मिली। पलामू पुलिस ने कुख्यात नक्सली (Naxali) संदीप यादव उर्फ कईल यादव को दो सहयोगियों शंभू यादव और अजय यादव के साथ गिरफ्तार (Arrest) कर लिया।

Naxali

पलामू पुलिस ने कुख्यात नक्सली संदीप यादव उर्फ कईल यादव को दो सहयोगियों के साथ गिरफ्तार कर लिया।

झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) को नक्सलियों (Naxal) के खिलाफ बड़ी सफलता मिली। पलामू पुलिस ने कुख्यात नक्सली (Naxali) संदीप यादव उर्फ कईल यादव को दो सहयोगियों शंभू यादव और अजय यादव के साथ गिरफ्तार (Arrest) कर लिया। पुलिस ने इन नक्सलियों को हथियार के साथ पांकी थाना क्षेत्र के हेडुम से गिरफ्तार किया।

गिरफ्तार नक्सलियों (Naxals) के पास से पुलिस ने एक 9 एमएम कार्बाइन मशीन गन, एक मैगजीन और 9 एमएम की 91 गोली बरामद किया। पलामू के एसपी अजय लिंडा के मुताबिक, मुखबिर की सूचना के आधार पर अभियान एसपी अरुण कुमार सिंह के नेतृत्व में पांकी थाने की पुलिस ने कार्रवाई करते हुए तीन नक्सलियों को गिरफ्तार किया।

नक्सली कमांडर को मार गिराने वाली बहादुर बेटी को एसपी ने किया सम्मानित, कहा- ‘अब नक्सलियों को आप से डरना होगा’

नक्सली संदीप यादव पर एक दर्जन से अधिक नक्सली वारदात में शामिल होने का आरोप है। पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार नक्सली (Naxali) कैला यादव उर्फ संदीप यादव साल 2010 में पांकी के सीमावर्ती इलाकों में सक्रिय था। साल 2020 में वह बूढा पहाड़ और लातेहार में सक्रिय नक्सली दस्ते में शामिल हुआ था।

वहीं, कुछ दिनों बाद अपना अलग दस्ता बना कर लेस्लीगंज थाना क्षेत्र से ठेकेदारों और व्यपारियों से रंगदारी और लेवी वसूली का काम कर रहा था। पुलिस के मुताबिक नक्सली (Naxali) संदीप इलाके के ठेकेदारों से लेवी की मांग कर रहा था। इसकी सूचना पुलिस को मिली, जिसके बाद पलामू पुलिस ने कार्रवाई करते हुए संदीप यादव को दो साथियों को साथ पांकी थानाक्षेत्र के हेडुम गांव से गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस अब इस दस्ते की नक्सली गतिविधियों के बारे में जानकारी जुटाने में लगी है। बता दें कि दो दिन पहले भी पिपरा थानाक्षेत्र के चपरवार में हथियारों से लैस नक्सलियों (Naxalites) ने क्रशर प्लांट पर हमला किया था। इस दौरान प्लांट में खड़े 13 हाईवा, ट्रक, लोडर और अन्य उपकरणों को आग के हवाले कर प्लांट के मशीन को बम विस्फोट कर क्षतिग्रस्त कर दिया गया था। नक्सलियों ने लेवी के लिए इस वारदात को अंजाम दिया था।

यह भी पढ़ें