Coronavirus: मृतकों की संख्या बढ़कर 1,113 हुई, बीजिंग पहुंची WHO की टीम

चीन (China) में कोरोनावायरस (Coronavirus) से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,113 हो गई है। वहीं, संक्रमण के मामलों की संख्या भी बढ़कर 44,653 हो गई है। चीनी प्रशासन ने 12 फरवरी को यह जानकारी दी।

Coronavirus

Coronavirus

चीन (China) में कोरोनावायरस (Coronavirus) से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,113 हो गई है। वहीं, संक्रमण के मामलों की संख्या भी बढ़कर 44,653 हो गई है। चीनी प्रशासन ने 12 फरवरी को यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि 31 प्रांतीय स्तर के क्षेत्रों और शिंजियांग प्रोडक्शन एंड कंस्ट्रक्शन कॉर्प्स से 11 फरवरी को कोरोनवायरस (Coronavirus) संक्रमण के कन्फर्म 2,015 नए मामलों और 97 मौतों की जानकारी मिली है।

Coronavirus
मृतकों की संख्या बढ़कर 1,113 हुई।

चीन (China) में कोरोनावायरस (Coronavirus) से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,113 हो गई है। वहीं, संक्रमण के मामलों की संख्या भी बढ़कर 44,653 हो गई है। चीनी प्रशासन ने 12 फरवरी को यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि 31 प्रांतीय स्तर के क्षेत्रों और शिंजियांग प्रोडक्शन एंड कंस्ट्रक्शन कॉर्प्स से 11 फरवरी को कोरोनवायरस (Coronavirus) संक्रमण के कन्फर्म 2,015 नए मामलों और 97 मौतों की जानकारी मिली है। सिन्हुआ ने चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के हवाले से बताया कि इनमें हुबेई प्रांत में 94 और हेनान, हुनान तथा चोंगकिंग में एक-एक मौत हुई है।

आयोग ने कहा कि 11 फरवरी को 3,342 नए संदिग्ध मामले सामने आए। 11 फरवरी को ही 871 मरीज गंभीर रूप से बीमार पड़ गए और 744 लोगों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। आयोग ने कहा कि 8,204 मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है और 16,067 लोगों के वायरस से संक्रमित होने का संदेह है। ठीक होने के बाद कुल 4,740 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। आयोग ने कहा कि 4,51,462 लोगों के कोरोनावायरस (Coronavirus) पीड़ितों से करीबी संपर्क में होने का पता चला है, उनमें से 30,068 को 11 फरवरी को चिकित्सा निगरानी से छुट्टी दे दी गई है, जबकि 1,85,037 अन्य अभी भी चिकित्सा निगरानी में हैं। 11 फरवरी के अंत तक हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र (एसएआर) में एक की मौत सहित 49 मामलों की पुष्टि हुई, जबकि 10 मकाऊ एसएआर में और ताइवान में 18 मामलों की पुष्टि हुई है। मकाऊ और ताइवान में एक-एक मरीज को ठीक होने के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

पूरे विश्व के लिए एक बड़ा खतर- WHO

वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख तेदरोस अदहानोम गेब्रेयसेस ने 11 फरवरी को कहा था कि हालांकि इसके 99 प्रतिशत मामले चीन में हैं, लेकिन यह पूरे विश्व के लिए एक बड़ा खतरा है। उन्होंने सभी देशों से इस संबंध में किए किसी भी शोध की जानकारी साझा करने की अपील भी की थी। डब्ल्यूचओ (WHO) के अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की एक टीम ब्रुस एलवर्ड के नेतृत्व में 10 फरवरी रात यहां पहुंची थी। टीम ने 11 फरवरी को कोरोना वायरस के प्रकोप से निपटने को लेकर चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ चर्चा शुरू की।

चीन अधिकारियों ने 11 फरवरी को हुबेई से दो वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारियों को बर्खास्त कर उसकी राजधानी वुहान में प्रतिबंध कड़े कर दिए थे। बता दें कि कोरोना वायरस विषाणुओं का एक बड़ा समूह है लेकिन इनमें से केवल छह विषाणु ही लोगों को संक्रमित करते हैं। इसके सामान्य प्रभावों के चलते सर्दी-जुकाम होता है लेकिन ‘सिवीयर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम’ (सार्स) ऐसा कोरोनावायरस (Coronavirus) है जिसके प्रकोप से 2002-03 में चीन और हांगकांग में करीब 650 लोगों की मौत हो गई थी।

पढ़ें: देश के दुश्मनों का एक ही वार में होगा नाश, DRDO तैयार कर रहा ‘प्रनाश’

यह भी पढ़ें