छत्तीसगढ़: सुकमा में नक्सली मुठभेड़, CRPF कोबरा बटालियन का एक कमांडो शहीद

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में सुरक्षाबलों की नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में एक जवान शहीद हो गया। जबकि कई नक्सलियों को गोली लगने की भी खबर है। जानकारी के मुताबिक, जिले के किस्ताराम इलाके के जंगलों में सीआरपीएफ (CRPF) 208 कोबरा बटालियन के जवानों के साथ नक्सलियों की यह मुठभेड़ हुई।

CRPF
फाइल फोटो।

छत्तीसगढ़ के सुकमा में 18 फरवरी शाम सुरक्षाबलों और नक्सलियों की मुठभेड़ में सीआरपीएफ (CRPF) का एक जवान शहीद हो गया। जबकि एक जवान घायल हो गया। घायल जवान का उपचार रायपुर स्थित अस्पताल में चल रहा है। सीआरपीएफ कोबरा बटालियन के जवान नक्सलियों की मौजूद होने की सूचना पर सर्चिंग के लिए निकले थे। इसी दौरान घात लगाए नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। एसपी शलभ सिन्हा ने एन्काउंटर की पुष्टि की है।

जानकारी के मुताबिक, किस्टाराम क्षेत्र में नक्सलियों के मौजूद होने की सूचना मिली थी। इस पर पालोड़ी कैंप में तैनात सीआरपीएफ (CRPF) की कोबरा 208 बटालियन के जवानों को 18 फरवरी अपराह्न करीब 3.30 बजे सर्चिंग के लिए रवाना किया गया। कैंप से करीब दो किमी घात लगाए नक्सलियों ने शाम करीब 4.30 बजे अचानक हमला कर दिया। इस पर जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की। करीब 15-20 मिनट चली मुठभेड़ के बाद नक्सली वहां से भाग निकले। कई नक्सलियों को गोली लगने की भी खबर है।

हालांकि इस मुठभेड़ में जवान इंद्रजीत सिंह ओर कनई मांझी गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल जवानों को किस्टाराम कैंप लाया गया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें शाम करीब 6.30 बजे एयरलिफ्ट कर रायपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालांकि उपचार के दौरान कनई मांझी की मौत हो गई। कनई पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले के रहने वाले थे और सीआरपीएफ में कांस्टेबल थे। जबकि दूसरे जवान इंद्रजीत अभी अस्पताल में भर्ती हैं।

पढ़ें: मराठा राजवंश के संस्थापक और हिंदवी स्वराज के विधाता थे छत्रपति शिवाजी महाराज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here