छत्तीसगढ़: 26 जवानों की हत्या की आरोपी महिला ने पुलिस कप्तान को बांधी राखी

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा के झारावाही कांड में नक्सली हमले में 26 जवान शहीद हो गए थे। नक्सली सुन्दरी झारवाही कांड के मुख्य आरोपियों में शामिल है। रक्षाबंधन के दिन नक्सली सुन्दरी ने पुलिस कप्तान अभिषेक पल्लव को राखी बांधी।

Naxalite, police, rakshabandhan, Dantewada, Raksha Bandhan of Chhattisgarh, छत्तीसगढ़, सुरक्षा बल के 26 जवानों की हत्या, नक्सली ने पुलिस को बनाया भाई, नक्सली, रक्षा बंधन, sirf sach, sirfsach.in, सिर्फ सच

दंतेवाड़ा के पुलिस लाइन में पुलिस कप्तान को एक ऐसी महिला ने राखी बांधी, जिसपर सुरक्षा बल के 26 जवानों की हत्या में शामिल होने का आरोप है।

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा में रक्षा बंधन पर एक अनोखी तस्वीर सामने आई। इस बार स्वतंत्रता दिवस और रक्षा बंधन दोनों एक ही दिन मनाया गया। इस दिन दंतेवाड़ा के पुलिस लाइन में पुलिस कप्तान को एक ऐसी महिला ने राखी बांधी, जिस पर सुरक्षा बल के 26 जवानों की हत्या में शामिल होने का आरोप है। यह महिला एक नक्सली है जो अब आत्मसमर्पण कर चुकी है। इस समर्पित महिला नक्सली ने पुलिस वालों को न सिर्फ राखी बांधी बल्कि अपनी सुरक्षा का वचन भी लिया।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा के झारावाही कांड में नक्सली हमले में 26 जवान शहीद हो गए थे। नक्सली सुन्दरी झारवाही कांड के मुख्य आरोपियों में शामिल है। रक्षाबंधन के दिन नक्सली सुन्दरी ने पुलिस कप्तान अभिषेक पल्लव को राखी बांधी। एसपी पल्लव के साथ ही उसने दूसरे पुलिस अफसरों को भी राखी बांधी और पुलिस के जवानों से अपनी सुरक्षा का वचन लिया। पुलिस अफसरों ने भी उसकी रक्षा करने का भरोसा दिलाया। उसने अपनी रक्षा के वचन के साथ ही पुलिस जवानों की रक्षा करने का वचन भी दिया। पुलिस के जवानों को राखी बंधने के बाद सुन्दरी ने कहा कि मेरे जवान भाइयों पर नक्सलियों ने यदि एक भी गोली चलाई तो मैं 10 गोली चलाऊंगी, लेकिन अपने इन भाइयों को कुछ नहीं होने दूंगी।

बता दें कि सुंदरी सरेंडर करने के बाद दंतेश्वरी लड़ाका दल में शामिल हो गई थी। अब वह पुलिस के साथ मिलकर नक्सलियों का शिकार करती है। गौरतलब है कि सरेंडर नक्सली यह स्वीकार चुके हैं कि नक्सली कायराना हरकत कर जवानों को नुकसान पहुंचाते हैं। साथ ही नक्सल संगठनों में युवाओं को भटकाकर लाया जाता है। वहां महिलाओं और युवाओं का शोषण किया जाता है। यही वजह है कि नक्सली लगातार सरेंडर कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: एक बहन जो भाई की कलाई पर नहीं, उसकी बंदूक को बांधती है राखी

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App