Budget 2020: इन अधिकारियों की टीम ने तैयार किया बजट, जानिए कुल कितने लोगों ने किया काम

Budget

इन 6 अधिकारियों की टीम ने सरकार की आय और खर्च का लेखा-जोखा तैयार करने में सबसे अहम भूमिका निभाई है।

एक फरवरी को पेश होने वाले बजट (Budget) को लेकर काफी उत्सुकता है। जानकारी के मुताबिक, खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने इस बजट की तैयारी में दिलचस्पी लिया है। इतना ही नहीं, बजट को तैयार करने के लिए उन्होंने 6 विशेष अधिकारियों को भी तैनात किया।

Budget
6 अधिकारियों की टीम ने बजट तैयार करने में सबसे अहम भूमिका निभाई है।

Budget 2020: एक फरवरी को पेश होने वाले बजट को लेकर काफी उत्सुकता है। जानकारी के मुताबिक, खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने इस बजट की तैयारी में दिलचस्पी लिया है। इतना ही नहीं, बजट को तैयार करने के लिए उन्होंने 6 विशेष अधिकारियों को भी तैनात किया, वे 6 अधिकारी हैं- राजीव कुमार, कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम, अतनु चक्रवर्ती, अजय भूषण पांडेय, टीवी सोमनाथन और तुहीनकांत पांडेय। इन 6 अधिकारियों की टीम ने सरकार की आय और खर्च का लेखा-जोखा तैयार करने में सबसे अहम भूमिका निभाई है। आइए जानते हैं इन पांचों अधिकारियों के बारे में-

राजीव कुमार

वित्त मंत्रालय के सबसे वरिष्ठ अधिकारी राजीव कुमार की बजट (Budget) भाषण को तैयार करने में सबसे प्रमुख भूमिका है। राजीव कुमार के निर्देशन में ही सरकारी बैंकों के विलय का कार्य हो रहा है। उनसे उम्मीद है कि वो बैंकिंग सेक्टर जो फिलहाल एनपीए से बेहाल हैं, वो अपना काफी अहम योगदान देंगे। इसके लिए देश में क्रेडिट की ग्रोथ को बढ़ाने के लिए भी उपाय सोचने होंगे ताकि मांग में उछाल आए। राजीव कुमार इससे पहले वित्त मंत्रालय में वित्तीय सेवा सचिव थे। वो इससे पहले बिहार, झारखंड सरकार और केंद्र सरकार के कई अहम मंत्रालयों व विभागों में कार्यरत रहे हैं। उन्हें 33 सालों का अनुभव है। वित्तीय सेवा सचिव बनने से पहले वो व्यय विभाग में संयुक्त सचिव भी रह चुके हैं।

कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम

देश के मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम एक जाने-माने अर्थशास्त्री हैं। वो इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस में एसोसिएट प्रोफेसर है। सुब्रमण्यम शिकागो बूथ से पीएचडी हैं और आईआईटी और आईआईएम के छात्र भी रह चुके हैं। सुब्रमण्यम की गिनती दुनिया के टॉप बैंकिंग, कॉर्पोरेट गवर्नेंस और इकनॉमिक पॉलिसी एक्सपर्ट में होती है। उन्होंने 8 नवंबर, 2016 को केंद्र सरकार द्वारा की गई नोटबंदी का भी समर्थन किया था।

अतनु चक्रवर्ती

वित्त मंत्रालय में विनिवेश (दीपम) विभाग के पहले सचिव रहे अतनु चक्रवर्ती फिलहाल आर्थिक मामलों के सचिव हैं। गुजरात कैडर के 1985 बैच के अधिकारी हैं। वह पेट्रोलियम मंत्रालय के हाईड्रोकार्बन विभाग के महानिदेशक थे। साथ ही गुजरात सरकार की गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कॉरपोरेशन के मैनेजिंग डायरेक्टर भी रह चुके हैं। उन्होंने बिजनेस फाइनेंस में पोस्ट ग्रेजुएशन भी किया है।

अजय भूषण पांडेय

1984 बैच के आईएएस अधिकारी अजय भूषण पांडेय फिलहाल वित्त मंत्रालय में राजस्व सचिव हैं। इससे पहले वो आधार जारी करने वाली संस्था यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) के 2010 से लेकर के नवंबर 2018 तक इसके सीईओ रहे थे। भूषण की जीएसटी पर तगड़ी पकड़ मानी जाती है। अब वह बजट टीम का प्रमुख हिस्सा हैं।

टीवी सोमनाथन

टीवी सोमनाथन फिलहाल वित्त मंत्रालय में व्यय सचिव हैं। इनकी हाल ही में मंत्रालय में नियुक्ति हुई है। इनका मुख्य कार्य है कि सरकारी खर्च को इस तरह से किया जाए, जिससे मांग बढ़े और बर्बादी कम हो। इससे पहले वो पीएमओ में कार्यरत थे, इसलिए उनको पता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किस तरह का बजट चाहते हैं।

तुहीनकांत पांडेय

विनिवेश विभाग दीपम के सचिव तुहीनकांत पांडेय की मुख्य जिम्मेदारी एयर इंडिया और बाकी सरकारी कंपनियों में विनिवेश की है। सरकार अपनी आय को बढ़ाने के लिए विनिवेश पर ज्यादा जोर दे रही है। 

पढ़ें: बजट से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण शब्दों के बारे में यहां जानें विस्तार से…

यह भी पढ़ें