बिहार: SSB ने हार्डकोर नक्सली को दबोचा, कुख्यात प्रद्युम्न शर्मा के लिए करता था काम

बिहार के नवादा जिले के रजौली थाने की पुलिस के साथ सशस्त्र सीमा बल (SSB) ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए एक फरार हार्डकोर नक्सली को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार नक्सली को नाम सुरेश पासवान है। उसकी गिरफ्तारी 24 फरवरी को सिरदला थाना क्षेत्र में खरौंध रेलवे स्टेशन के पास से की गई। गिरफ्तार नक्लली से रजौली थाने में पूछताछ की जा रही है। नक्सली सुरेश पासवान सिरदला थाना क्षेत्र के हेमजा भारत गांव का रहने वाला है।

SSB
गिरफ्तार नक्सली सुरेश पासवान।

खरौंध रेलवे स्टेशन के पास से हुई गिरफ्तारी: एसएसबी (SSB) 29वीं वाहिनी फतेहपुर कैंप के असिस्टेंट कमांडेंट रामवीर कुमार के मुताबिक, कमांडेंट राजेश कुमार सिंह के निर्देश पर रजौली थानाध्यक्ष सुजय विद्यार्थी के सहयोग से खरौंध रेलवे स्टेशन के पास से हार्डकोर नक्सली को गिरफ्तार किया गया।

प्रद्युम्न शर्मा के लिए करता था काम: जानकारी के अनुसार, नक्सली सुरेश पासवान, नक्सली कमांडर प्रद्युम्न शर्मा के लिए स्लीपर सेल के रूप में काम कर रहा था। उससे पूछताछ में नक्सलियों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां सामने आने की उम्मीद है।

साल 2008 में  हुई मुठभेड़ में था शामिल: गिरफ्तार नक्सली 2008 में रजौली थाना क्षेत्र के जमुंदाहा के जंगल में पुलिस टीम के साथ हुई नक्सलियों की भीषण मुठभेड़ में शामिल था। तब वह पुलिस से बचकर भाग निकला था। उक्त घटना की प्राथमिकी में सुरेश को आरोपी बनाया गया था। तब से वह पुलिस को चकमा दे रहा था।

जमुंदाहा गांव में हुई थी मुठभेड़: बता दें कि 28 मार्च, 2008 में जमुंदाहा गांव के बगल में नक्सलियों ने एक बड़े भू-भाग पर अफीम की खेती की थी। इसकी सूचना पर पुलिस की टीम छापेमारी करने के लिए जमुंदाहा जा रही थी। पुलिस को देखते ही नक्सलियों के दस्ते ने जवानों पर अंधाधुंध फायरिंग करनी शुरू कर दी थी। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई किया था।

पुलिस को भारी पड़ता देख नक्सली वहां से भाग खड़े हुए थे। इसमें नक्सली सुरेश पासवान भी शामिल था। हालांकि, उस समय पुलिस ने भागते हुए एक नक्सली को पकड़ लिया था। मौके से भारी मात्रा में खोखा बरामद किया गया था। इसके बाद बड़े पैमाने पर अफीम की फसल को बर्बाद किया गया था।

पढ़ें: पुलिस ने नक्सलियों के कैंप पर धावा बोला, मुठभेड़ के बाद भागे नक्सली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here