India-China LAC Clash: जब निकला शहीद का जनाज़ा, हुई फूलों की बारिश

लद्दाख (Ladakh) में गलवान घाटी (Galwan Valley) में भारत-चीन सीमा पर चीनी सैनिकों से झड़प में पंजाब के सतनाम सिंह शहीद हो गए। गुरदासपुर के कलानौर के भाजराज में जब शहीद सतनाम सिंह (Martyr Satnam Singh) का पार्थिव शरीर पहुंचा तो लोगों ने फूलों की बारिश की और शहीद सतनाम अमर रहें के घोष से आसमान गूंज उठा।

Martyr Satnam Singh

लद्दाख के गलवान घाटी में भारत-चीन सीमा पर चीनी सैनिकों से झड़प में पंजाब के सतनाम सिंह शहीद हो गए। गुरदासपुर के कलानौर के भाजराज में जब शहीद सतनाम सिंह का पार्थिव शरीर पहुंचा तो लोगों ने फूलों की बारिश की और शहीद सतनाम अमर रहें के नारे लगाए। शहीद सतनाम सिंह को 20 जून को पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। बेटे ने पिता को सैल्‍यूट कर अंतिम विदाई दी। बेटी ने भी पिता को सलामी दी। गांव में पहले शहीद के पार्थिव शरीर को उनके घर ले जाया गया और इसके बाद लोगों के अंतिम दर्शन के लिए रखा गया।

यह भी पढ़ें