Pulwama Martyrs

पुलवामा में पिछले साल हुए आतंकी हमले (Pulwama Attack) में शहीद हुए जवानों को लेकर उस वक्त बड़ी-बड़ी घोषणाएं की गई थीं। सरकार और प्रशासन ने तमाम वादे किए थे, लेकिन कुछ वक्त बाद इन वादों को भूला दिया गया।

शहीद राम वकील का परिवार अभी उनकी शहादत के गम से उबर भी नहीं पाया था कि कुछ दबंगों ने उनके परिजनों पर कहर बरसाना शुरू कर दिया। वो भी उस चिता की जमीन के लिए जिस पर शहीद रामवकील माथुर का अंतिम-संस्कार हुआ था। डरे-सहमे परिवार वाले अब अधिकारियों से मदद की गुहार लगा रहे हैं।

मुर्तजा हामिद राजस्थान के कोटा के निवासी हैं और मुंबई में रहते हैं। 110 करोड़ रुपए देने की कागजी कार्रवाई उनकी तरफ से पूरी कर ली गई है, वे पीएमओ के आदेश पर डीडी या चेक से भुगतान करेंगे।

अवधेश की शादी तीन साल पहले चंदौली के पूरवा गांव की रहने वाली शिल्पी से साथ हुई थी। इनका एक 2 साल का बेटा निखिल है। अभी बीते मंगलवार को शहीद अवधेश यादव घर से लौटकर ड्यूटी जॉइन किए थे। पर क्या पता था कि ये उनका आख़िरी सफ़र होगा।

यह भी पढ़ें