Nazir Ahmad Wani

अशोक चक्र से सम्मानित लांस नायक नजीर अहमद वानी के लिए अपने देश से बड़ा कुछ नहीं था। यह बात हम सभी जानते हैं कि किस तरह उस वीर ने देश के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया था।

उनके सिर पर काफी चोटें आई थीं। जख्मी होने के बावजूद नजीर वानी ने आतंकियों को भागने नहीं दिया। वह आतंकियों के भाग निकलने के रास्ते पर डटे रहे। उन्होंने दूसरे आतंकी को भी ढेर कर दिया। इस एनकाउंटर में वानी और उनके साथियों ने कुल 6 आतंकियों को मार गिराया था। इनमें से दो को वानी ने खुद मारा था।

यह भी पढ़ें