भीख मांगकर जमा किए हुए पैसे कर दिए शहीदों के नाम

देवकी शर्मा नाम की महिला चौराहे पर भीख मांगा करती थीं, इन्होंने भीख मांग कर 6 लाख रुपया इकट्ठा कर रखा था। 14 फरवरी को पुलवामा में CRPF के काफिले पर हुए आतंकी हमले के कारण देवकी काफ़ी शोक में थीं। इसलिए अपनी जमा राशि शहीदों के परिजनों को दान कर दिया।

pulwama attack women donates all her money

pulwama attack women donates all her money

पुलवामा में हुए आतंकी हमले (Pulwama Attack) के कारण सारा राष्ट्र एक तरफ ग़ुस्से में है, आतंकियों पर कड़ी कार्यवाही करने की मांग हर तरफ से उठ रही है, वहीं इस हमले में शहीद हुए परिजनों को लेकर हर किसी के दिल में अपनापन है। पीड़ित परिवार के साथ इस दुःख की घड़ी में देश का हर नागरिक खड़ा है।

शहीद हुए जवानों के परिजनों को सरकार की तरफ से आर्थिक मदद से लेकर परिवार के सदस्य को नौकरी दी जा रही है। कई सामाजिक संगठनों ने भी आगे आकर पीड़ित परिवारों की ज़िम्मेदारी अपने कंधों पर ले लिया है। ‘साझा सुख और साझा दुःख’ यही तो एक राष्ट्र की अवधारणा है। पीड़ित के दुःख में शामिल होना ही असल में मानवता की सेवा है।

जहां एक तरफ सरकार एवं समाज के संपन्न लोग अपनी तरफ से शहीद परिजनों की ज़िम्मेदारी निभाने के लिए आगे आ रहे हैं, वहीं राजस्थान की एक महिला ने वह किया जिसको सुनकर आपकी आंखों में आंसू आ जाएंगे। अजमेर की रहने वाली देवकी शर्मा नाम की यह महिला जय अम्बे माता मंदिर बजरंगगढ़ चौराहे पर भीख मांगा करती थीं, इन्होंने भीख मांग कर 6 लाख रुपया इकट्ठा कर रखा था।

14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के कारण देवकी काफ़ी शोक में थीं। इसलिए अपनी जमा राशि शहीदों के परिजनों को दान करने का फैसला किया और उन्होंने जिला अधिकारी के ज़रिए ये पैसा शहीद के परिजनों को डोनेट कर दिया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App