झारखंड: PLFI के 14 उग्रवादी गिरफ्तार, मजदूरों का हुलिया बनाकर करते थे व्यापारियों की रेकी

रांची पुलिस ने बुधवार देर रात शहरी इलाके से 14 उग्रवादियों को गिरफ्तार कर कहा कि अब पीएलएफआई (PLFI) के उग्रवादी जंगलों से निकलकर शहर की ओर आ रहे हैं।

Bihar Election

सांकेतिक तस्वीर।

पुलिस के सूत्रों के अनुसार, ये PLFI के 14 उग्रवादी रांची के कांके, चुटिया ,सुखदेव नगर और सदर थाना क्षेत्र में किराए के मकान पर रहकर मजदूरी करते थे। बुधवार देर रात इन सबको दबोच लिया गया।

झारखंड: रांची पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने PLFI के 14 उग्रवादियों को गिरफ्तार किया है। ये उग्रवादी मजदूरों के वेश में अमीरों और व्यापारियों के बारे में जानकारी निकालते थे और फिर उन्हें धमकी देकर पैसे वसूलते थे।

रांची पुलिस ने बुधवार देर रात शहरी इलाके से 14 उग्रवादियों को गिरफ्तार कर कहा कि अब पीएलएफआई (PLFI) के उग्रवादी जंगलों से निकलकर शहर की ओर आ रहे हैं। वह शहर के किसी क्षेत्र में दिनभर मजदूर के रूप में काम करते हैं और इसी दौरान अमीरों-व्यापारियों की पूरी जानकारी निकालते हैं और फिर उनसे लेवी की मांग करते हैं। ये लोग लेवी ना देने पर व्यापारियों को जान से मारने की धमकी भी देते हैं।

पुलिस ने बताया है कि यह उग्रवादी महज दिखावे के लिए मजदूरी करते हैं। इनका असल मकसद लेवी लेना और लोगों को जान से मारना है।

पुलिस के सूत्रों के अनुसार, ये 14 उग्रवादी रांची के कांके, चुटिया ,सुखदेव नगर और सदर थाना क्षेत्र में किराए के मकान पर रहकर मजदूरी करते थे। बुधवार देर रात इन सबको दबोच लिया गया।

रांची पुलिस ने बताया कि ये उग्रवादी काफी समय से अपनी पहचान छुपा रहे थे, लेकिन इस बार खुफिया इनपुट मिलते ही इन्हें पकड़ लिया गया। ये सभी उग्रवादी नामकुम क्षेत्र के जमीन कारोबारियों से रंगदारी वसूलने की फिराक में थे।

ये भी पढ़ें- Coronavirus Updates: देश में कोरोना के मामले हुए 68 लाख के पार, 24 घंटे में आए 78,524 नए केस

14 उग्रवादियों की गिरफ्तारी से रांची पुलिस और आम जनता को राहत मिली है। हालांकि खतरा अभी टला नहीं है। पुलिस ने कहा है कि वह पकड़े गए उग्रवादियों के इनपुट के आधार पर बाकी उग्रवादियों को पकड़ने की कोशिश कर रही है।

रांची के अन्य शहरी क्षेत्रों में भी ग्रामीण एसपी द्वारा छापेमारी की जा रही है। इसके अलावा शहर के लोगों को ये संदेश दिया जा रहा है कि बिना जांचे परखे किसी भी व्यक्ति को किराए पर मकान ना दें।

बता दें कि उग्रवादियों के लिए भाड़े के घर में रहना और अपनी पहचान छुपाना बहुत आसान है। ऐसे में रांची पुलिस ने कहा है कि किसी भी व्यक्ति पर जल्द भरोसा ना करें और किसी तरह की संदिग्ध गतिविधि दिखे तो पुलिस को तुरंत सूचित करें।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें