हिंदी सिनेमा का एक और सितारा आज ग़ुरूब हो गया, साजिद-वाजिद की हिट जोड़ी टूट गई

किडनी की समस्या से ग्रस्त वाजिद खान (Wajid Khan) का मुम्बई के सुराणा सेठिया अस्पताल में निधन हो गया। कुछ महीने पहले ही उनकी किडनी ट्रांसप्लांट की गई थी। उनके कोविड-19 का शिकार होने की भी अटकलें लगाई गई थीं।

Wajid Khan

Music composer Wajid Khan passes away.

हिन्दी सिनेमा की मशहूर जोड़ी संगीतकार साजिद वाजिद (Wajid Khan) में से वाजिद खान की आकस्मिक मृत्यु से बॉलीवुड में शोक की लहर फैल गईं है। साजिद-वाजिद एक नामी संगीतकार थे, जिन्होंने हिन्दी सिनेमा के सैकड़ों फिल्मों में अपने संगीत का जादू बिखेरा है। किडनी की समस्या से ग्रस्त वाजिद खान (Wajid Khan) का मुम्बई के सुराणा सेठिया अस्पताल में निधन हो गया। कुछ महीने पहले ही उनकी किडनी ट्रांसप्लांट की गई थी। उनके कोविड-19 का शिकार होने की भी अटकलें लगाई गई थीं।

साजिद-वाजिद ने सबसे पहले 1998 में सलमान खान की फिल्म ‘प्यार किया तो डरना क्या’ के लिए संगीत दिया। 1999 में, उन्होंने सोनू निगम की एल्बम ‘दीवाना’ के लिए संगीत दिया, जिसमें “दीवाना तेरा”, “अब मुझसे रात दिन” और “इस कदर प्यार है” जैसे गाने शामिल थे। उसी साल उन्होंने फिल्म हैलो ब्रदर के लिए संगीत निर्देशकों के रूप में काम किया और ‘हटा सावन की घाटा’, ‘चुपके से कोई और’ और ‘हैलो ब्रदर’ जैसे गाने लिखे लिखे। साजिद-वाजिद ने ‘क्या यही प्यार है’, ‘गुनाह’, ‘चोरी चोरी’, ‘द किलर’, ‘शादी करके फंस गया यार’, ‘जाने होगा क्या’ और ‘कल किसने देखा है’ जैसी फिल्मों में संगीत दिया।

नरगिस जन्मदिन विशेष: महज 5 साल की उम्र से की अभिनय की शुरुआत, हिंदी सिनेमा की ‘प्रथम महिला’ के तौर पर मिली पहचान

साजिद-वाजिद की जोड़ी ने सलमान खान की कई फिल्मों में संगीत दिया। इनमें ‘तुमको ना भूल पाएंगे’, ‘तेरे नाम’, ‘गर्व’, ‘मुझसे शादी करोगी’,’पार्टनर’, ‘गॉड तुस्सी ग्रेट हो’, ‘वांटेड’, ‘मैं और मिसेज खन्ना’, ‘वीर’, ‘दबंग’, ‘नो प्रॉब्लम’ और ‘एक था टाइगर’ जैसी फिल्में शामिल हैं। साजिद-वाजिद ने रियलिटी शो ‘सा रे गा मा पा सिंगिंग सुपरस्टार’, ‘सा रे गा मा पा 2012’, ‘बिग बॉस सीजन चार’ और ‘बिग बॉस छह’ के लिए टाइटल ट्रैक तैयार किया था। इसके अलावा उन्होंने आईपीएल के चौथे सीजन के थीम म्यूजिक ‘धूम धूम धूम धड़ाका’ को भी तैयार किया था, इसके टाइटल ट्रैक को वाजिद खान (Wajid Khan) ने गाया था।