भारत में 59 चाइनीज मोबाइल ऐप्स पर लगा बैन, TikTok की ओर से आया यह बयान..

देश में काफी समय से Boycott China मुहिम चलाई जा रही थी। इसी कड़ी में भारत सरकार ने 59 चीनी मोबाइल ऐप्स को (59 Chinese Apps Ban In India) भारत में बैन कर दिया है। इन ऐप्स में सबसे बड़ा नाम है टिकटॉक (TikTok) का।

TikTok

भारत-चीन सीमा यानी LAC और गलवान घाटी में चल रहे विवाद और बीते दिनों हुए हिंसक झड़प और हमारे 20 जवानों की शहादत के बाद भारत सरकार ने अब चीन पर पलटवार करना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में भारत सरकार ने 59 चीनी मोबाइल ऐप्स को (59 Chinese Apps Ban In India) भारत में बैन कर दिया है। इन ऐप्स में सबसे बड़ा नाम है टिकटॉक (TikTok) का।

टिकटॉक (TikTok) इस देश में कई लोगों के लिए कमाई का जरिया, तो कइयों के लिए फेवरेट टाइमपास भी बन चुका है। भारत सरकार द्वारा ऐप्स को बैन करने के बाद टिकटॉक भी इसकी लपेटे में आ चुकी है। भारत सरकार की ओर से प्रतिबंध लगाए जाने के बाद TikTok की ओर से बयान आया है कि वह आदेश के पालन करने की प्रक्रिया में है।

तो उस रात गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प की ये थी वजह…

इस बाबत टिकटॉक इंडिया (TikTok India) ने बयान जारी किया है। टिकटॉक इंडिया के प्रमुख निखिल गांधी ने टिकटॉक इंडिया के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करते हुए लिखा है- भारत सरकार द्वारा 59 मोबाइल ऐप्स को बैन करने का फैसला लिया गया है। हम इस आदेश का अनुपालन करेंगे। इस बाबत हम सरकारी एजेंसियों से मुलाकात कर सफाई पेश करेंगे।

ट्वीट में आगे लिखा गया है- टिकटॉक भारत के कानून का सम्मान करता है। टिकटॉक (TikTok India) कंपनी द्वारा उपभोक्ताओं के डाटा को टीनी सरकार या किसी भी विदेशी सरकार को नहीं भेजा गया है। अगर हमें डाटा को शेयर करने के लिए भी कहा जाता तो भी हम ऐसा नहीं करते। वहीं, गूगल प्ले स्टोर और आईफोन से टिकटॉक को हटा दिया गया है।

देशभर में मशहूर शॉर्ट वीडियो सर्विस ने यह भी कहा है कि ”भारतीय कानून के तहत डेटा को गोपनीय रखना और सुरक्षा आवश्यकताओं का पालन करना जारी रखा जाएगा।” इसके साथ ही टिकटॉक (TikTok) ने अपने बयान में कहा है, हमने किसी भी भारतीय टिकटॉक यूजर की कोई भी जानकारी विदेशी सरकार या फिर चीन की सरकार को नहीं दी है।

यह भी पढ़ें